Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Up To 65% Discount To Consumers Who Have More Than 5 Thousand

5 हजार से अधिक वाले उपभोक्ताओं को 65% तक छूट देने की तैयारी, 53 लाख को मिलेगा फायदा

इनमें सबसे ज्यादा 52 लाख ग्रामीण क्षेत्र के घरेलू कनेक्शन लेने वाले किसान व अन्य हैं, जो सूखे से जूझ रहे हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 07:04 AM IST

  • 5 हजार से अधिक वाले उपभोक्ताओं को 65% तक छूट देने की तैयारी, 53 लाख को मिलेगा फायदा
    ग्वालियर.2018 विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को बकाया पर स्पेशल ऑफर देने की तैयारी कर ली है। कंपनी के अफसरों ने मुख्यमंत्री के नाम से नई समाधान योजना का ड्राफ्ट तैयार किया है। अगले दो महीने में इसकी घोषणा हो सकती है। इस योजना से प्रदेश के 53 लाख से ज्यादा ऐसे उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी, जिनके ऊपर 5 हजार रुपए से ज्यादा बकाया है। इनमें सबसे ज्यादा 52 लाख ग्रामीण क्षेत्र के घरेलू कनेक्शन लेने वाले किसान व अन्य हैं, जो सूखे से जूझ रहे हैं।
    - शहरी क्षेत्रों के स्लम एरिया में भी योजना प्रभावी होगी। सूत्रों के मुताबिक समाधान योजना की घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के स्थापना दिवस 1 नवंबर को करने वाले थे, लेकिन होमवर्क पूरा न होने के कारण डेट आगे बढ़ा दी गई।
    - सूत्र बताते हैं कि प्रदेश भर में सभी कंपनियों का अकेले ग्रामीण क्षेत्र के घरेलू व स्लम बस्तियों के कनेक्शनों पर 3350 करोड़ रुपए बकाया है। ग्वालियर रीजन में 700 करोड़ रुपए 7 लाख उपभोक्ताओं पर बकाया हैं।
    ग्राहक को मिलेंगे दो विकल्प
    - एकमुश्त पेमेंट: जो उपभोक्ता स्कीम में शामिल होंगे, उन्हें 12 महीने तक करंट बिल जमा करना होगा। 13वें महीने में बकाया का एक मुश्त 35 फीसदी देना होगा। मतलब टोटल अमाउंट पर 65 फीसदी की माफी मिलेगी।
    - किस्तों में पेमेंट: पहले 12 महीने करंट बिल जमा होगा। 13 से 24 वें महीने तक मूल बकाया का 4% मतलब 12 महीने में 48% राशि जमा करनी होगी। 4% राशि मंथली बिल में जुड़ेगी और उपभोक्ता को मूल पर 52% की छूट मिलेगी।
    यह हो सकेंगे शामिल
    - ऐसे ग्राहक जिन्होंने बकाया को लेकर कोर्ट में केस लगा रखे हैं।
    - जिन पर बकाया होने पर कंपनी ने कनेक्शन काट दिए हैं।
    - जिनके घर चोरी या अतिरिक्त भार जांच के दौरान मिला है।
    - जो पुरानी समाधान योजना का लाभ ले चुके हैं वे भी शामिल हो सकेंगे।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×