--Advertisement--

भिंड / मृत शिशु की डिलीवरी के बाद मेहगांव से भिंड लाई गई प्रसूता की जिला अस्पताल में मौत

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:36 PM IST


bhind
X
bhind

भिंड। मेहगांव स्वास्थ्य केंद्र से मृत शिशु की डिलीवरी के बाद गंभीर हालत में रैफर की गई एक प्रसूता की जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतिका के भाई ने आरोप लगाया है कि जिला अस्पताल में ब्लड की व्यवस्था और जांच के नाम पर दो घंटे तक इधर- उधर घुमाया जाता रहा तब तक उसकी बहन की जान निकल गई। हालांकि अस्पताल प्रशासन ने इस बात को नकारा है। 


मेहगांव क्षेत्र के ग्राम मन का पुरा निवासी शिवकुमार जाटव की 27 वर्षीय पत्नी प्रीति को प्रसव पीड़ा होने पर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। दोपहर बाद 3.25 बजे डिलीवरी हुई पर निर्जीव शिशु जन्मा। इसके बाद प्लैसेंटा (गर्भ नाल) फंसी रह गई। तब वहां से जिला अस्पताल के लिए रैफर किया गया। शाम पांच बजे प्रीति को जिला अस्पताल लाया गया। 


मृतक के भाई भारत जाटव ने बताया अस्पताल में ऑपरेशन से पहले ब्लड का इंतजाम करने और उसके बाद ब्लड जांचे कराने की बात कही गई इस फेर में इतना समय लग गया करीब 7 बजे प्रीति की मौत हो गई। बकौल भारत अगर उसकी सीधे ऑपरेशन की टेबल पर ले जाया जाता तो उसकी जान बच सकती थी। यहां बता दें प्रीति को पांच- छह साल पहले सीजेरियन डिलीवरी हुई तब शिशु खत्म हो गया था। अस्पताल में ड्यूटी पर डाॅ. मनप्रीत कौर के अलावा स्टाफ में रीना, शिवानी, रश्मि, प्रियंका की ड्यूटी थी। 

Astrology

Recommended

Click to listen..