--Advertisement--

नौवीं के इस स्टूडेंट के क्लाउडिंग सिस्टम को मिला इंटरनेशनल जर्नल में स्थान

नौवीं के इस स्टूडेंट के क्लाउडिंग सिस्टम को मिला इंटरनेशनल जर्नल में स्थान

Dainik Bhaskar

Dec 02, 2017, 11:01 AM IST
अपनी टीचर प्रियंका सोनी के साथ अपनी टीचर प्रियंका सोनी के साथ

ग्वालियर. जिस उम्र में स्टूडेंट कंप्यूटर पर गेम खेलते हैं, वहीं एक 9वीं के स्टूडेंट ने डाटा का सेफ रखने का ऐसा क्लाउड सिस्टम तैयार किया, जिसे इंटरनेशनल जर्नल ने प्रकाशित किया। इस सिस्टम में यदि कोई डाटा को हैक करेगा तो उसकी जानकारी तुरंत मिल जाएगी। अब यह स्टूडेंट अपनी कंप्यूटर टीचर के साथ मिलकर इस सॉफ्टवेयर का एप्लीकेशन बना रहा है, जिसमें 6 महीने का समय लगेगा। ऐसे बनाया यह सॉफ्टवेयर........


-यह स्टूडेंट हैं, भिंड के सेंट माइकल स्कूल तव्यम जैन, जिन्होंने 40 दिन की मेहनत के बाद यह क्लाउड सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इस तकनीक के जरिए डाटा को सुरक्षित रखा जा सकता है।
-यदि कोई डाटा से छेड़छाड़ करता है या हैक करने की कोशिश करेगा तो तुरंत मैसेज भी मिल जाएगा। इसके बाद तुरंत सिक्यूरिटी को अलर्ट करके हैकिंग को रोका जा सकता है।
-यही नहीं यदि यह सॉफ्टवेयर क्रैश होता है तो दूसरा डाटा सामानान्तर स्टोरेज में जाकर सेव हो जाएगा।

इंटरनेशनल जर्नल में आया रिसर्च पेपर

-तव्यम की कंप्यूटर टीचर प्रियंका सोनी बताती हैं कि इस सॉफ्टवेयर को सिक्योरिटी सर्विस ऑफ डाटा स्टोरेज इन द क्लाउड कंसीडरिंग थर्ड पार्टी सर्विस नाम दिया गया है।

-तव्यम के इस क्लाउडिंग सॉफ्टवेयर को इंटरनेशनल रिसर्च मैग्जीन इरजेट में प्रकाशित किया गया है। इससे सॉफ्टवेयर पूरी दुनिया में पहुंच गया है और लोगों ने तव्यम के प्रयास को सराहा है।
-तव्यम के साथ उनकी टीचर प्रियंका ने बताया कि अब वे इस क्लाउंड सॉफ्टवेयर का एप्लीकेशन बना रहे हैं। इसे बनाने में 6 महीने का समय लगेगा।

स्लाइड्स में है तव्यम से जुड़े फोटोज.....

X
अपनी टीचर प्रियंका सोनी के साथअपनी टीचर प्रियंका सोनी के साथ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..