Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» After Murder Family Road Jam With Dead Body

श्मशान के रास्ते में डेड बॉडी रखकर लगाया जाम आरोपियों की गिरफ्तारी के वादे के बाद हटे

श्मशान के रास्ते में डेड बॉडी रखकर लगाया जाम आरोपियों की गिरफ्तारी के वादे के बाद हटे

Sameer Garg | Last Modified - Dec 14, 2017, 03:13 PM IST

ग्वालियर.प्रापर्टी डीलर जीतेन्द्र बाथम की हत्या के बाद गुरुवार को अंतिम संस्कार करने के लिए परिजन शव को श्मशान ले जाने लगे। रास्ते में परिजनों ने शव को सड़क पर रखा और वहीं प्रदर्शन शुरू कर दिया। मृत जीतेन्द्र के दोनों बेटे और घर की महिलाएं भी वहां आ गईं। इससे सड़क पर जाम लग गया। जीतेन्द्र की डेड बॉडी कई घंटे तक सड़क पर रखी रही। बाद में अफसरों ने आरोपियों की गिरफ्तारी का तुरंत आश्वासन दिया, उसके बाद परिजनों ने श्मशान ले जाकर जीतेन्द्र का अंतिम संस्कार किया। यह है मामला..........


-बुधवार की शाम को खासगी बाजार में प्रापर्टी डीलर जीतेन्द्र बाथम की चार लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस इस मर्डर के आरोपियों को सीसीटीवी फुटेज से खोजने में लगी हुई है।
-सीसीटीवी कैमरे में आरोपियों की पहचान कार्तिक, दीपक बाथम, अजय और अंकित के रूप में हुई है। ये चारों अपने घरों से गायब हैं। उधर गुरुवार की सुबह पोस्टमार्टम के बाद जीतेन्द्र की डेड बॉडी परिजनों को सौंप दी गई।
-जनकगंज इलाके में रहने वाले जीतेन्द्र की डेड बॉडी घर में आते ही कोहराम मच गया। जीतेन्द्र की मां को तो यही बताया गया था कि उसका एक्सीडेंट हुआ है और वह हॉस्पिटल में एडमिट है।

डेड बॉडी सड़क पर रखकर लगाया जाम
-गुरुवार को जीतेन्द्र के शव के साथ अंतिम यात्रा शुरू हुई। परिजन अंतिम संस्कार के लिए शव को लक्ष्मीगंज स्थित श्मशान घाट ले जाने लगे। शव के साथ अंतिम यात्रा लक्ष्मीगंज एबी रोड पर पहुंची।
-इसके बाद परिजनों ने सड़क पर जीतेन्द्र की डेड बॉडी को रखा और इस बीच जीतेन्द्र को दोनों बेटे और घर की महिलाएं भी वहां आ गई। इन सभी ने डेड बॉडी के साथ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।
-इस प्रदर्शन से रोड पर जाम लगने लगा। देखते ही देखते हजारों लोग इस प्रदर्शन में शामिल हो गए। परिजनों की मांग थी कि हत्या के आरोपियों को जल्दी गिरफ्तार किया जाए।

चार घंटे बाद हटा जाम

-प्रदर्शन और चक्काजाम की खबर मिलते ही पुलिस भी वहां पहुंच गई। पुलिस ने सभी लोगों को हटाने की कोशिश की, लेकिन लोग तैयार नहीं थे।
-करीब चार घंटे बाद परिजनों को अफसरों ने आश्वासन दिया कि वे तुरंत कदम उठाकर आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे। इस आश्वासन के बाद वे सड़क से हटे और फिर श्मशान घाट जाकर जीतेन्द्र का अंतिम संस्कार किया।

स्लाइड्स में है डेड बॉडी के साथ चक्काजाम के फोटोज.......

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: antim snskar ki bjaay sdek par ded bodi ke saath baithe rahe bete, ye thi unki maang
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×