--Advertisement--

तानसेन समारोहः स्वीडन के योहानेस के गिटार से सामने रखी वेस्टर्न म्यूजिक की जुगलबंदी

तानसेन समारोहः स्वीडन के योहानेस के गिटार से सामने रखी वेस्टर्न म्यूजिक की जुगलबंदी

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 01:27 PM IST
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार

ग्वालियर. स्कूली शिक्षा और BA की पढ़ाई ग्वालियर से करने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने DAV कॉलेज कानपुर से MA (राजनीति शास्त्र) और लॉ की पढ़ाई की थी। उन्होंने जब लॉ में एडमिशन लिया तभी पिता कृष्णबिहारी वाजपेयी रिटायर हुए और अचानक कानपुर पहुंचे। उन्होंने उसी कॉलेज में लॉ में एडमिशन ले लिया। अटल ने पिता से वजह पूछी तो बोले वकालत करना है और अब देखते हैं कौन फर्स्ट आएगा। अटल जी ने पिता संग पूरी की वकालत की पढ़ाई.....

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 25 दिसंबर को जन्मदिन है। इस मौके पर dainikbhaskar.com पेश कर रहा है उनसे जुड़े कुछ अनछुए पहलू....


- पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी संस्कृत के बड़े विद्वान थे। और मुरैना गांव के सरकारी स्कूल में हेडमास्टर थे। इसके बाद अटलजी ने गोरखी स्कूल से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की और BA के लिए तत्कालीन विक्टोरिया (अब महारानी लक्ष्मीबाई) कॉलेज में एडमिशन लिया।
- BA करने के बाद MA के लिए कानपुर के DAV कॉलेज में एडमिशन लिया। MA पूरी हुई तो अटल जी ने वहीं LL.B में एडमिशन ले लिया।
- उन्हीं दिनों में अटल जी के पिता सरकारी नौकरी से रिटायर हुए और सीधे DAV कॉलेज कानपुर जाकर LL.B में एडमिशन ले लिया।
- इसके बाद वह बेटे के आवास पर पहुंचे, अटलजी की निगाहों में सवाल देख बोले- मैंने DAV कॉलेज में एडमिशन ले लिया है और अब देखते हैं कौन फर्स्ट आएगा।
- संयोग से पिता-पुत्र दोनों को एक ही सेक्शन में रख दिया गया। पढ़ाई के दौरान अक्सर अजीबोगरीब स्थिति बनने लगी।
- पिता कक्षा में नहीं होते तो लोग अटल से उनके बारे में पूछते। अटल नहीं होते तो पिता से ऐसे ही सवाल होते। आखिरकार अटल जी ने एप्लिकेशन देकर अपना सेक्शन अलग करा लिया। LL.B पूरी हुई तो पिता के नंबर अटल जी से थोड़े ज्यादा ही आए।