--Advertisement--

इस बैंडिट क्वीन ने उठाया एनकाउंटर पर सवाल, जिंदा पकड़कर मारा था चंदन डकैत को

इस बैंडिट क्वीन ने उठाया एनकाउंटर पर सवाल, जिंदा पकड़कर मारा था चंदन डकैत को

Dainik Bhaskar

Dec 20, 2017, 11:22 AM IST
शिवपुरी के हॉस्पिटल में इलाज क शिवपुरी के हॉस्पिटल में इलाज क

ग्वालियर. तीन दिन से शिवपुरी के सरकारी हॉस्पिटल में इलाज करा रही बैंडिट क्वीन चंदा का कहना है कि पिछले साल जनवरी में पुलिस ने उसके साथी चंदन गड़रिया को ग्रामीणों के सहयोग से जिंदा पकड़ा था। तीन दिन तक जमकर पीटा। जिससे चंदन की मौत हो गई और फिर उसे एनकाउंटर में मरना दिखा दिया। इस राज के सामने आने के बाद पुलिस अफसर जबाव देने से बच रहे हैं। यह है मामला.......

-पिछले साल शिवपुरी के करमई के जंगलों में शिवपुरी पुलिस ने चंदन गड़रिया को एक एनकाउंटर में मारने का दावा किया था। चंदन पर 30 हजार रुपए का इनाम था। चंदन के एनकाउंटर के 15 दिन बाद उसके साथ जंगल में रहने वाली चंदा को पुलिस ने पकड़ा।
-चंदा अभी तक जेल में थी। तीन दिन पहले उसकी तबीयत खराब हुई तो उसे पुलिस ने शिवपुरी के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया। यहां उसने एनकाउंटर के 23 महीने बाद राज खोला है।

चंदा ने बताया कि चंदन को जिंदा मारा पुलिस ने
-चंदा का कहना है कि चंदन का पुलिस से कोई एनकाउंटर नहीं हुआ। उसे तो करमई के पास पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से एनकाउंटर के तीन दिन पहले पकड़ लिया था। इसके बाद पुलिस कस्टडी में जमकर पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गई।
-मौत के बाद उसे जंगल में लाकर गोलियां चलाईं और उसे मुठभेड़ में मारना बता दिया। अब इस खुलासे के बाद पुलिस का एनकाउंटर संदेह के घेरे में है।

पुलिस अफसर जबाव देने को तैयार नहीं

-चंदा के मीडिया से बातचीन होने के बाद पुलिस ने अब चंदा को हॉस्पिटल से हटाकर वापस जेल भेज दिया है।
-इस खुलासे के बाद पुलिस अफसर फिलहाल कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। जिस समय चंदन को एनकाउंटर में मारा गया था, उस समय शिवपुरी के एसपी युसुफ कुर्रेशी थे।

स्लाइड्स में है चंदा से जुड़े फोटोज............

X
शिवपुरी के हॉस्पिटल में इलाज कशिवपुरी के हॉस्पिटल में इलाज क
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..