--Advertisement--

खबर-४

खबर-४

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 11:27 AM IST
भीड़ जुटी तो पुलिस पिटते युवक भीड़ जुटी तो पुलिस पिटते युवक

ग्वालियर. इकतरफा प्यार मेंं पागल मनचला समझाने के बाद भी हरकतों से बाज नहीं आया तो गुरुवार शाम युवती के भाइयों ने उसकी बीच सड़क पर धुनाई कर दी। रस्सी से बांधकर उसे फुटपाथ पर बैठाकर पीटने के बाद पुलिस के हवाले करने लगे तो मनचले ने हाथ जोड़कर माफी मांगी, और बोला पुलिस को शिकायत नहीं करें, मां को मालूम हुआ तो वह सहन नहीं कर सकेगी। ये है मामला.....


- सिकंदर कंपू निवासी विकास गुप्ता लोहिया बाजार में रहने वाली एक युवती को इकतरफा प्यार करने लगा। वह दोपहर कोचिंग के लिए निकलती तो विकास गुब्बारा फाटक पर खड़ा हो कर छेड़ने और कोचिंग तक पीछा करने लगा था।
- तंग आकर युवती ने उसकी शिकायत भाइयों से कर दी, भाई गुरुवार को दोपहर से ही गुब्बारा फाटक के पास आकर खड़े हो गए। युवती आई तो विकास ने उसका पीछा शुरू कर दिया।
- इस पर पहले से तैयार बैठे युवती के भाइयों ने उसे घेर लिया और बीच सड़क पर उसकी पिटाई शुरू कर दी। युवती के भाई उसे घसीटते हुए फुटपाथ पर ले गए और रस्सी से उसके पैर बांधकर पीटा।
- पिटाई से विकास के नाक-मुंह से खून निकलने लगा। मारपीट कर रहे युवकों के साथ वहां जुटी भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने उस पर हाथ साफ किए।
- हाथ पैर बंधे पिटते युवक को पुलिस के हवाले करने लोगों ने Dial-100 को कॉल कर दिया। इस पर युवक ने गुहार लगाई उसे और पीट लो, लेकिन पुलिस के हवाले मत करो, क्योंकि उसकी मां को जानकारी मिली तो वह बर्दाश्त नहीं कर पाएगी।

- Dial-100 टीम मौके पर पहुंची और युवक को पकड़कर कोतवाली ले गई। हालांकि थाने में दोनों पक्षों के बीच राजीनामा हो गया, और पुलिस ने विकास को छोड़ दिया।


2 साल से कर रहा थी युवती को परेशान
- युवती के भाइयों ने बताया कि वह अंबाह के रहने वाले हैं और विकास भी वहीं का निवासी है। बीते 2 साल से विकास उनकी बहन को परेशान कर रहा है।

- बहन ने कई बार उसे समझाया, पिटाई से पहले उसने विकास की मां से शिकायत की थी, मां की समझाइश पर विकास ने माफी मांगी थी, और फिर कभी परेशान नहीं करने का वादा भी किया था, लेकिन वह नहीं माना।

- कोतवाली पुलिस थाने के TI दामोदर गुप्ता ने बताया कि गुरुवार को विकास की पिटाई की सूचना पर Dial-100 उसे पकड़ कर लाई थी। हालांकि बाद में दोनों पक्षों ने राजीनामा कर लिया और कोई रिपोर्ट नहीं लिखाई। इस पर विकास को छोड़ दिया गया।