Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Chambal Student Innovates Indigenous Power Bank For Android

चंबल के किनारे छोटे कस्बे के इंजीनियरिंग स्टूडेंट ने २० रुपए में बनाया पॉवर बैंक, बगैर बिजली होगा चार्ज

चंबल के किनारे छोटे कस्बे के इंजीनियरिंग स्टूडेंट ने २० रुपए में बनाया पॉवर बैंक, बगैर बिजली होगा चार्ज

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 15, 2017, 06:44 PM IST

ग्वालियर. मुरैना में सबलगढ़ कस्बे के रहने वाले MTech स्टूडेंट ने महज 20 रुपए की लागत में मोबाइल पॉवर बैंक बना लिया, इसे चार्ज करने के लिए भी बिजली की जरूरत नहीं पड़ती, कहीं भी जरा सी धूप में सोलर सेल से इसे चार्ज किया जा सकता है। देशी जुगाड़ के इनोवेटर की इच्छा है कि इस गैजेट को उन इलाकों के लोगों तक पहुंचाया जाए जहां बिजली बमुश्किल मिल पाती है। देशी जुगाड़ से बनाया सस्ता पॉवर बैंक.....


- देश के गांवों तक मोबाइल अब एक जरूरत बन गया है, लेकिन यहां बिजली की सप्लाई नाम मात्र के लिए होती है। लिहाजा मोबाइल चार्जिंग को यहां समस्या माना जाता है।
- शहरी युवा को लक्जरी के लिए महंगे पॉवर बैंक खरीद कर कहीं भी मोबाइल चार्ज कर लेता है, हालांकि उसके लिए घर में बिजली की सप्लाई भी पर्याप्त है।
- गांव के युवा की परेशानी यहीं पले बढ़े और ग्वालियर के MITS से MTech के स्टूडेंट अंकित शर्मा ने समझी, और जुगाड़ से महज 20 रुपए में पॉवर बैंक तैयार कर लिया। अंकित के इस जुगाड़ गैजेट को चार्ज करने के लिए बिजली की भी कोई जरूरत नहीं है।
- अंकित का गैजेट पूरी तरह सौर ऊर्जा पर आधारित है। अंकित को यह विचार तब आया जब उनके एक दोस्त ने ऑनलाइन ऑर्डर कर 2100 रुपए में पॉवर बैंक खरीदा।

- अंकित ने 12 दिन की माइंड-स्टोर्मिंग से और महज 20 रुपए की लागत से देशी जुगाड़ गैजेट तैयार कर लिया।
- अंकित की इच्छा है कि उनकी ये जुगाड़ इनोवेशन गांव के युवाओं तक पहुंचे। अंकित का मानना है कि इकलौता गजट तैयार करने में लागत 20 रुपए आई है, लेकिन बल्क में प्रोफेशनल तरीके से इसे बनाने से लागत में भी कमी आएगी और गैजेट और भी सुविधाजनक बन सकेगा।


ऐसे बना देशी जुगाड़ पॉवर बैंक गैजेट
- अंकित ने ग्वालियर के इलेक्ट्रॉनिक मार्केट से 10 रुपए में 9 वोल्ट की सोलर बैटरी बैटरी खरीदी। डोमेस्टिक AC सप्लाई मोबाइल को चार्ज करने जरूरी 5 वोल्ट DC करंट में कन्वर्ट करने 3 रुपए का एक ट्रांजिस्टर खरीदा, 1 रुपए का रजिस्टेंस,1 रुपए की LED खरीदी, और 2 रुपए के बैटरी कनेक्टर खरीदे।

- सर्किट सेट बनाने पीसीबी और चार्जिंग सॉकेट का उपयोग किया। इस तरह गैजेट कुल मिलाकर 20 रुपए में तैयार हो गया।

गैजेट से एक बार के फुल चार्ज में दो एंड्राइड मोबाइल हो सकते हैं चार्ज
- अंकित का देशी जुगाड़ गैजेट 30 मिनिट धूप में रखने पर पूरी तरह चार्ज हो जाता है। जुगाड़ की यह पॉवर बैंक गैजेट 3-3.5 घंटे में एवरेज एंड्रॉइड मोबाइल फुल चार्ज कर देता है। गैजेट में सोलर बैटरी की क्षमता भी बढ़ाई जा सकती है।

स्लाइड में है अंकित और उसकी देशी पॉवर बैंक जुगाड़....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: chnbl ke injiniyringa student ne 20 rupaye mein banayaa deshi povr bank, bgaair bijli hoga Charj
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×