Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Drug Smuggler Saves Himself Behind Disability

ट्रक वालों को बेचता था गांजा, डिसेबल्ड होने का फायदा उठा बचता था पुलिस से

ट्रक वालों को बेचता था गांजा, डिसेबल्ड होने का फायदा उठा बचता था पुलिस से

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 29, 2017, 06:43 PM IST

ग्वालियर.पुलिस जिसे डिसेबल्ड होने की वजह से इग्नोर कर रही थी, वह क्राइम ब्रांच टीम की निगाहों में आ गया। दबिश हुई तो उसके कब्जे से 8.6 KG गांजा बरामद हुआ। ये है मामला....


- गोले का मंदिर इलाके में पैरों से डिसेबल्ड विनोद राठौर गांजे की पुड़िया बनाकर ट्रक ड्राइवरों को सप्लाई करता था। फिक्स और भरोसेमंद कस्टमर्स को सप्लाई करने के लिए वह उत्तरप्रदेश से गांजा मंगवाता था।
- स्थानीय पुलिस थाने का मैदानी अमला उसे एक सामान्य डिसेबल्ड की तरह ही समझता रहा, लेकिन उसकी कारगुजारियों की सूचना क्राइम ब्रांच तक पहुंची तो उसकी गतिविधियों की निगरानी की गई।
- सूचना की पुष्टि होने पर क्राइम ब्रांच की टीम ने विनोद राठौर के घर दबिश दी तो इसके कब्जे से 8.6 KG गांजा जब्त किया। उसके खिलाफ NDPS एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×