• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • father work at petrol pump, son get degree from IIM & 21 lakhs packages
--Advertisement--

पेट्रोलपंप पर काम करते हुए पिता ने बेटे को दिलाई ढ्ढढ्ढरू से डिग्री, अब मिला २१ लाख का पैकेज

पेट्रोलपंप पर काम करते हुए पिता ने बेटे को दिलाई ढ्ढढ्ढरू से डिग्री, अब मिला २१ लाख का पैकेज

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 12:59 PM IST
अपने पिता राममनोहर मंडेलिया क अपने पिता राममनोहर मंडेलिया क

ग्वालियर. पिता एक पेट्रोलपंप पर व्हीकल्स में पेट्रोल भरते हैं, लेकिन उन्होंने अपने बेटे को प्रोत्साहित किया। बेटे ने भी निराश नहीं किया। बायोटेक्नोलॉजी की डिग्री लेकर CAT का एक्जाम दिया और IIM में सिलेक्शन हो गया। इसके पहले उनकी दो सरकारी नौकरी भी मिलीं, लेकिन वे बड़ा अफसर बनना चाहते थे। आर्थिक समस्या भी आड़े आई, लेकिन बेटा होनहार था, हर स्तर की पढ़ाई में स्कॉलरशिप मिली। अब उन्हें कैंपस के जरिए 21 लाख रुपए का पैकेज एक पेट्रोलियम कंपनी में मिला हैं।


-उपनगर मुरार की तंग गलियों में रहने वाले राम मनोहर मंडेलिया। मंडेलिया एक पेट्रोल पंप पर काम करते हैं। उनका बेटा मोहित शुरु से पढ़ने में होशियार था। इसलिए उन्होंने आर्थिक संकट मोहित की स्टडी में आड़े नहीं नहीं आने दिया।
-12वीं की परीक्षा मोहित ने अच्छें मार्क्स से पास की तो उसे बीएससी बायोटेक में एडमिशन मिला। यहां उसे स्कॉलरशिप मिल गई, जिससे वह 89 फीसदी नंबरों से पढ़कर ग्रेजुएट हो गया।
ग्रेजुएशन के बाद मंडी इंस्पेक्टर और रेलवे में नौकरी मिली, लेकिन मोहित एक बड़ा अफसर बनना चाहता था। उसने IIM में एडमिशन के लिए CAT एक्जाम दिया।

कोचिंग के लिए पिता ने कर्ज लिया, दोस्तों ने मदद की
-CAT कोचिंग के लिए पिता ने कर्ज लिया, कॉलेज के स्टूडेंट्स ने मदद की। मोहित सिलेक्शन IIM शिलांग में हो गया। यहां फीस की समस्या आड़े आने लगी।
-मोहित ने जानकारी ली तो उसे पता लगा कि मेरिट स्टूडेंट की फीस सरकार माफ करती है। उसकी 15 लाख फीस के लिए 100 फीसदी स्कॉलरशिप मिल गई। मोहित ने IIM शिलांग में एडमिशन लिया।

-IIM शिलांग से उसका कैंपस सिलेक्शन हो गया है और उसे पब्लिक सेक्टर की पेट्रोलियम कंपनी में 21.5 लाख का पैकेज मिला है।

बेटे की नौकरी लगते ही पिता लेंगे रिटायरमेंट

-मोहित ने बताया कि IIM शिलांग में 180 स्टूडेंट्स में से केवल 4 का सिलेक्शन हुआ है, जिसमें उसका नाम भी शामिल है। अब डिग्री पूरी होते ही वह पेट्रोलियम कंपनी ज्वाइन करेगा।

-पिता राममनोहर भीगी आंखों से बेटे की इस उपलब्धि का श्रेय उसकी लगन को देते हैं। वहीं मोहित ने पिता से वादा लिया है कि जिस दिन वो नौकरी ज्वाइन करेगा, उसी दिन पिता पेट्रोल पंप की नौकरी से रिटायरमेंट ले लेंगे।

स्लाइड्स में है मोहित और उसके पिता के फोटोज.........