Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Friend Accepts, 11th Student Jumped Same Day From Fort To Suicide

फ्रैंड बोला- निराश थी इसलिए कोचिंग से गई थी किले पर, उसी दिन कूद कर किया सुसाइड

फ्रैंड बोला- निराश थी इसलिए कोचिंग से गई थी किले पर, उसी दिन कूद कर किया सुसाइड

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 31, 2017, 02:24 PM IST

ग्वालियर.किला तलहटी में 29 दिसंबर को 11th स्टूडेंट शिखा त्रिपाठी की बिना सिर की बॉडी मिलने के मामले का रहस्य धीरे-धीरे खुलने लगा है। किले पर उसके साथ गए फ्रैंड ने स्वीकार कर लिया कि शिखा 22 दिसंबर को ही किले से कूद गई थी, लेकिन वह डर की वजह से मौके से घर भाग आया और पुलिस से हादसा छिपा लिया। ये है मामला....

- शहर के लक्ष्मण तलैया इलाके की रहने वाली 17 साल की शिखा त्रिपाठी 22 दिसंबर को ट्यूशन गई थी। देर शाम तक वह वापस नहीं लौटी तो परिजन ने उसे तलाश किया, लेकिन नहीं मिली तो इंदरगंज पुलिस थाने में किडनैप का मामला दर्ज कराया।
- 29 दिसंबर की दोपहर नूरगंज क्षेत्र में फोर्ट की तलहटी में उसकी बिना सिर की बॉडी मिली। बाद में हुई तलाश में स्कल बन चुका उसका सिर भी 10 फीट दूर एक झुरमुट में मिल गया।
- 30 दिसंबर को परिजन ने कपड़ों के आधार पर शिखा की शिनाख्त कर ली। परिजन से पूछताछ और जांच में पता चला कि वह कोचिंग में साथ में पढ़ने वाले एक फ्रैंड के 22 दिसंबर को किले पर गई थी।
- कोचिंग में उसके साथियों ने बताया कि वह उस दिन उदास थी और पढ़ाई के दौरान अकेली अलग बैठी रही थी। कोचिंग के साथियों ने ही बताया कि कोचिंग से वह एक फ्रैंड के साथ किले पर गई थी, ताकि उदासी दूर हो सके।

फ्रैंड ने बताया कोचिंग से किले गई उसी दिन कूद गई थी शिखा
- पुलिस ने उस कोचिंग वाले फ्रैंड को तलाश कर पूछताछ की जिसके साथ शिखा किले पर गई थी। पहले उसने यह तो स्वीकार किया कि वह शिखा के साथ किले पर गया था, लेकिन बताया कि लौटते वक्त शिखा ने कुछ देर अकेले बैठने की इच्छा जताई तो वह चला आया।
- पुलिस ने उससे शनिवार को पुरानी पूछताछ के रिफरेंस में उससे क्रॉस क्वेश्चन किए तो वह उलझ गया और बता दिया कि शिखा 22 दिसंबर को उसके सामने ही किले से कूद गई थी, शिखा के कूदने से वह डर गया, और घर भाग आया। डर की वजह से ही हादसे के बारे में उसने किसी को कुछ नहीं बताया।
- शिखा के साथ किले पर जाने वाले फ्रैंड ने बताया कि उस दिन वह बहुत अपसेट थी। किले पहुंच कर दोनों कैंटीन से आगे की ओर निकल गए। कुछ देर बाद शिखा से वापस चलने को कहा उसने मना कर दिया। काफी रिक्वेस्ट के बाद वह राजी हुई तो बोली कि वापस जाते वक्त कोई परिचित देख लेगा तो परेशानी होगी।
- इस पर शिखा के फ्रैंड ने अपने साथियों को फोन कर एक टॉवेल लाने को कहा, जिसे मुंह पर बांधकर शिखा वापस लौट सके। टॉवेल आई तो शिखा का फ्रैंड टिकट विंडो के पास उसे लेने गया।
- टॉवेल लेकर वह वापस उसी जगह पहुंचा जहां शिखा को छोड़ गया था, लेकिन शिखा वहां नजर नहीं आई। तभी एक युवक चीखता हुआ आया और बोला-एक लड़की किले से नीचे कूद गई है, इस पर तलहटी की ओर झांककर देखा तो नीचे शिखा की बॉडी पड़ी थी।
- इसके बाद डर कर सब वहां से भाग आए और परिजन को बताया, लेकिन उसे चुप रहने को कहा गया, इसलिए हादसे की सूचना पुलिस को नहीं दी।

- हालांकि पुलिस ने अभी शिखा के साथ किले पर गए फ्रैंड की इस कहानी पर भरोसा नहीं किया है, CCTV फुटेज और दूसरी जांचों के अलावा शिखा के फ्रैंड, कोचिंग स्टाफ, साथियों और शिखा के साथ गए फ्रैंड के साथियों से पूछताछ जारी है

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×