--Advertisement--

व्हीकल्स पर ऐसे लगाए फैंसी रजिस्ट्रेशन नंबर, ६१६१ को बनाया दादा, ४१४१ बना पापा

व्हीकल्स पर ऐसे लगाए फैंसी रजिस्ट्रेशन नंबर, ६१६१ को बनाया दादा, ४१४१ बना पापा

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 11:32 AM IST
मध्य प्रदेश के ग्वालियर का माम मध्य प्रदेश के ग्वालियर का माम

ग्वालियर. आरटीओ से अपने मनपसंद रजिस्ट्रेशन नंबर लेकर उन्हें फैंसी स्टाइल में ऐसे लिखाया जा रहा है, जिससे पढ़ने वाला हैरान रह जाए। एक कार पर लिखा था दादा, गौर से देखा था नंबर था 6161। यही नहीं एक व्हीकल की नंबर प्लेट पर लिखा नजर आया राम, लेकिन नंबर था 1214। इस स्टाइल के नंबर लिखे कई व्हीकल्स शहर में घूम रहे हैं और ट्रैफिक पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है। ऐसे लिखे रजिस्ट्रेशन नंबर.....


-कार और बाइक पर रजिस्ट्रेशन नंबर को स्टाइल में लिखने का प्रचलन बंद नहीं हुआ है। ग्वालियर की सड़कों पर ऐसे कई व्हीकल्स दौड़ते दिखाई दे जाएंगे, जिनमें नंबर को नए स्टाइल में लिखा गया है।
-एक कार की नंबर प्लेट पर लिखा था दादा, गौर से देखा तो नंबर था 6161, लेकिन उसमें लाइन खींचकर दादा बना दिया गया। इसी प्रकार एक कार का नंबर था 4141, लेकिन उसे नए स्टाइल में ऐसे लिखा, जैसे पापा लिखा गया हो।
-ऐसी ही एक कार व बाइक मिली, जिसमें नंबर था 1214, लेकिन 1 को छोटा करके 214 को ऐसे लिख दिया, वह राम दिखने लगा। मोटर व्हीकल एक्ट में ऐसे नंबर लिखना गैरकानूनी है।

क्या कहता है मोटर-व्हीकल एक्ट
-व्हीकल्स के आकार के हिसाब से अलग-अलग नाप वाले रजिस्ट्रेशन नंबर का आकार तय है, लेकिन लोग इन नियमों को नहीं मानते हैं।
-फैंसी नंबर प्लेट लगाना मोटर-व्हीकल एक्ट के तहत गलत है। ऐसे नंबर प्लेट लगाने पर 100 रुपए फाइन और एक से अधिक बार पकड़े जाने पर 2000 रुपए दंड और जेल हो सकती है।
-ट्रैफिक डीएसपी मनोज वर्मा का कहना है कि जिन वाहनो में गलत तरीके से नंबर प्रिंट कराए जा रहे हैं ऐसे वाहनों को चेकिंग के दौरान पकड़ कर उनका चालान बनाया जाता है। इसके अलावा कई कार्यक्रमों में लोगों को जागरूक भी किया जाता है।

X
मध्य प्रदेश के ग्वालियर का माममध्य प्रदेश के ग्वालियर का माम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..