--Advertisement--

पुलिस चौकी के पास सरेआम पुराने दोस्त को गोलियों से भूनने वाले स्नक्च पर ऐसे दिखाते थे रंगबाजी

पुलिस चौकी के पास सरेआम पुराने दोस्त को गोलियों से भूनने वाले स्नक्च पर ऐसे दिखाते थे रंगबाजी

Dainik Bhaskar

Dec 15, 2017, 01:45 PM IST
जितेंद्र की हत्या के मुख्य आरो जितेंद्र की हत्या के मुख्य आरो

ग्वालियर. महाराज बाड़े पर खासगी बाजार में बुधवार शाम जितेंद्र बाथम की सरेआम गोलियों से हत्या करने वाले पांचों आरोपी पुलिस के शिकंजे में आ गए हैं। दिनदहाड़े हत्या करने वाले गुंडों की दुस्साहसी आपराधिक मानसिकता उनकी FB वॉल और फोटो पोस्ट और साथ में लगे कैप्शंस से साफ जाहिर हो रहा है। ये है मामला....


- जितेंद्र बाथम की हत्या के मुख्य आरोपी दीपक ने मर्डर के बाद FB वाल अपडेट की और अपमान के बदले की कहानी लिख दी, हालांकि बाद में कुछ दोस्तों की समझाइश पर उसने FB अकाउंट खाली कर दिया।

- प्लानिंग में सहयोगी और गोली दागने वालों में से एक कार्तिक खटीक की FB वॉल और फोटो पोस्ट से सभी की मानसिकता साफ जाहिर होती है।

- कार्तिक की FB वॉल खंगाली तो उसमें लिखे कमेंट और फोटो देखकर पुलिस भी सकते में आ गई। जितेन्द्र के पेट में गोली मारने वाले हत्यारे कार्तिक खटीक ने FB पर हथियारों के साथ अपने फोटो अपलोड करने के साथ लिखे कैप्शंस से उसके खतरनाक तेवर नजर आते हैं।

हत्यारोपी की FB वॉल पर ये हैं पोस्ट
- कार्तिक ने 12 जुलाई को बंदूक लेकर पोस्ट किए फोटो में कैप्शन लिखा है, ‘तुम गरदन झुकाने की बात करते हो, हम वह हैं जो आंख उठाने वाले की गर्दन प्रसाद में बांट देते हैं’।
- आरोपी अंकित पाल ने 25 नवंबर को फेसबुक पोस्ट पर लिखा है एक दिन लोगों की गर्दी, और खाकी वर्दी दोनों अपने को सलाम ठोकेगी।


ये हैं आरोपी
- दीपक बाथम के साथ जितेंद्र की हत्या में दोस्त कार्तिक खटीक, अंकित पाल, अजय पचौरी और जयंत सहगल शामिल थे। दीपक जितेंद्र को मारने के लिए लगातार रैकी कर रहा था। बुधवार दोपहर करीब 3.30 बजे जितेंद्र कटिंग कराने के लिए खासगी बाजार गया था। दीपक और जयंत उसका पीछा करते हुए वहां पहुंच गए। सैलून से उसके बाहर निकलने का इंतजार किया।
- दीपक ने कार्तिक, अंकित और अजय को भी बुला लिया, तीनों दूर खडे़ हो गए। जितेन्द्र कटिंग कराकर बाहर आया तो दीपक ने उसे बुलाया। जितेन्द्र ने उस पर हावी होने की कोशिश की, तब तक कार्तिक, अजय और अंकित आ गए। पांचों कट्टों से लैस थे।


हत्या के बाद तत्काल छोड़ा शहर
- जितेंद्र की हत्या के बाद दीपक बाथम बाइक लेकर कैलारस में मामा के घर पहुंचा, वहीं रात काटी। जबकि कार्तिक ,अजय पचौरी डबरा, अंकित पाल शिवपुरी और जयंत सहगल माधौगंज में घर जाकर छिपा। दीपक भी कैलारस में ही छिपा था।
- पुलिस ने तड़के उसके मामा के घर दबिश दी तो हत्या में इस्तेमाल की गई बाइक खड़ी मिली। पुलिस के आने की भनक लगने पर दीपक भाग गया।
- पुलिस ने मामा के परविार पर प्रेशर बना कर दीपक को गिरफ्तार किया गया। उससे पूछताछ के बाद सारे साथी पुलिस के शिकंजे में आ गए।


स्लाइड्स में हैं जितेंद्र बाथम की हत्या करने वालों FB वॉल पर कमेंट....

X
जितेंद्र की हत्या के मुख्य आरोजितेंद्र की हत्या के मुख्य आरो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..