--Advertisement--

सास सोचती रही कि बहू सो रही है, रात को पता चला की वह डेड बॉडी के साथ लेटी थी

सास सोचती रही कि बहू सो रही है, रात को पता चला की वह डेड बॉडी के साथ लेटी थी

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 02:42 PM IST
महिला की सोते समय संदिग्ध मौत महिला की सोते समय संदिग्ध मौत

ग्वालियर. एक महिला की मौत सोते में हो गई। उसकी सास ने जगाने का प्रयास भी किया, लेकिन वह नहीं उठी तो उसे लगा कि दवा के असर से नींद आ रही है। जब बहू दिनभर नहीं उठी तो रात को पता चला कि उसकी बहू की मौत हो गई और वह उसकी डेड बॉडी के साथ ही लेटी थी। वहीं महिला के पिता ने मौत को संदिग्ध मानते हुए पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने डेड बॉडी का पोस्टमार्टम कराया है। यह है मामला.....

-महलगांव में बृजेन्द्र बघेल अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी मंजू और एक बेटी भी साथ रहती है। कुछ महीने पहले मंजू की डिलिवरी के दौरान उसका बेटा मर गया था। इसके बाद वह डिप्रेशन का शिकार हो गई।
-बृजेन्द्र ने उसका इलाज कराना शुरू कर दिया। शुक्रवार की सुबह मंजू की सास राजोबाई उसे जगाने पहुंची, लेकिन वह सो रही थी। राजोबाई भी उसी के बगल में लेट गई।
-शाम हो गई, लेकिन मंजू सोकर नहीं उठी। देर रात को जब बृजेन्द्र घर पहुंचा तो उसे मंजू के नहीं उठने की जानकारी मिली। उसने नब्ज देखी तो मंजू की मौत हो चुकी थी।

पिता ने जताया हत्या का संदेह
-उसने मंजू के पिता रामस्नेही को भी इसकी सूचना दी। मंजू के पिता दिल्ली से ग्वालियर आए, तब तक डेड बॉडी घर में रखी रही। रामस्नेही ने मंजू की हत्या का संदेह जताया और पुलिस बुला ली।
-रात को ही पुलिस मौके पर पहुंची और मंजू की डेड बॉडी का पोस्टमार्टम कराने भेज दिया। सीएसपी धर्मराज मीणा ने बताया कि फोरेंसिक एक्सपर्ट ने भी डेड बॉडी की जांच की है और शव पर कोई चोट के निशान नहीं मिले।
-मंजू के पति ने बताया कि बेटे की मौत के बाद वह डिप्रेशन में थी और उसका इलाज भी चल रहा था। इसके अलावा कई बार दवाओं का ओवरडोज होने के कारण घंटों सोती रहती थी। अब भी ऐसा लगा कि वह दवाओं के असर से सो रही है।