Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Police Arrests Killers Within 24 Hours

मरने वाले के भाई के रिसेप्शन में खाना खाया, डेढ़ घंटे बाद घेर कर मारी गोलियां

मरने वाले के भाई के रिसेप्शन में खाना खाया, डेढ़ घंटे बाद घेर कर मारी गोलियां

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 15, 2017, 03:52 PM IST

ग्वालियर. महाराज बाड़े पर बीते बुधवार की रात पुलिस चौकी से के पास प्रॉपर्टी डीलर जितेंद्र बाथम की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपियों ने हत्या से पहले जितेंद्र के चचेरे भाई की शादी के रिसेप्शन में खाना खाया था। इसके बाद उन्होंने घटना को अंजाम दे दिया। ये है मामला...



- दीपक बाथम और उसके साथी प्रॉपर्टी डीलर जितेंद्र को किसी भी सूरत में जिंदा नहीं छोड़ना चाहते थे। 3 गोलियों के निशान जितेंद्र के शरीर में मिले हैं, जबकि एक गोली सिर के आरपार निकल गई। दो गोलियां पीठ में मारी गई थीं, इन गोलियों ने जितेंद्र के फेफड़े फाड़ दिए।
- बाजार के लोगों का कहना है कि बुधवार रात उन्होंने 4 गोलियां चलने की आवाज सुनी थी, इससे पुलिस अंदाजा लगा रही है कि एक गोली मिस हो गई होगी।
- पोस्टमॉर्टम के बाद पता चला कि जितेंद्र को पहली दो गोलियां पीठ में मारी गई थीं और तीसरी गोली सिर में मारी लगी थी। गोली 3 फीट से भी कम दूरी से मारी गई थीं इसलिए हर गोली प्राणघातक साबित हुई।
- बदमाशों ने गोलियां मारने के साथ-साथ अपना गुस्सा उतारने के लिए उसे हाथ और लातों से भी मारा था। इसकी वजह से भी उसके शरीर पर चोट के निशान आए थे। जितेंद्र की जांघ, पीठ और हाथ पर मारपीट से आई चोट के 5 निशान मिले थे।

पुलिस ने 24 घंटे में ऐसे पकड़े आरोपी
- हत्यारों को पकड़ने के लिए 24 घंटे में क्या-क्या किया इसे कुछ पुलिसकर्मियों ने सिलसिलेवार बताया। उनके मुताबिक पहले जितेंद्र के परिजन को CCTV फुटेज दिखाए, इससे दीपक बाथम की पहचान हो गई।
- इसके बाद दीपक के दोस्तों को उठाकर पूछताछ की और उन्हें भी CCTV फुटेज दिखाए, इससे बाकी के आरोपियों की भी पहचान हो गई। पुलिस ने हत्यारों के परिजन को उठाया और उनके ठिकानों के बारे में पूछताछ की।
- पता चला कि मुख्य आरोपी दीपक बाथम कैलारस में मामा के घर में था। कैलारस में दबिश देकर दीपक को बाइक समेत गिरफ्तार कर लिया।
- इसके साथ ही दूसरी पुलिस पार्टी ने गुप्तेश्वर पहाड़ी इलाके से चार दूसरे आरोपियों को पकड़ लिया।
- आरोपी अंकित पाल पार्षद हरिपाल का भतीजा बताया गया है, उसे जयंत सैगल और कार्तिक खटीक को 3 कट्टे और 2 बाइक्स के साथ पकड़ा गया।

हलवाइयों से बोले-1.5 घंटे बाद तुम क्या पुलिस भी जानेगी हम कौन
- खासगी बाजार में बुधवार रात प्रॉपर्टी डीलर दीपक बाथम की हत्या में शामिल आरोपियों को पुलिस ने 24 घंटे में ही पकड़ लिया। हत्या की वजह यह थी कि कुछ महीनों पहले मुख्य आरोपी दीपक बाथम व उसके भाई को कमरे में बंद कर नेकेड हालत में जितेंद्र ने पिटाई की और वीडियो बनाकर दोस्तों में शेयर कर दिया था।
- 4 दिसंबर को भी जितेन्द्र ने भाई की बारात के दौरान दीपक ने तेजी से बाइक निकाली तो फिर जितेंद्र ने उसकी बेइज्जती की थी, तभी उसने बदला लेने की ठान ली थी।
- हत्या के दिन ही जितेन्द्र के चचेरे भाई की शादी का रिसेप्शन था। दीपक ने अपने चारों साथियों के साथ पहले शराब पी, फिर वह उस जगह पहुंचा जहां रिसेप्शन के लिए हलवाई खाना बना रहा थे।
- सबने रिसेप्शन स्थल पर हलवाइयों से लेकर खाना खाया। इसी दौरान हलवाइयों ने उनसे पूछा कि वह दूल्हे के किस रिश्ते में हैं तो कार्तिक बोला था, 1.5 घंटे बाद तुम क्या पुलिस भी जान जाएगी कि हम कौन हैं। खाना खाकर सब रवाना हुए, और ठीक 1.5 घंटे बाद जितेन्द्र की बेरहमी हत्या कर दी।

भतीजी से छेड़छाड़ करने पर की थी पिटाई
- कुछ महीने पहले जितेन्द्र की भतीजी से दीपक बाथम ने छेड़छाड़ कर दी थी। इसके बाद जितेन्द्र ने एक मैरिज गार्डन में दीपक की जमकर पिटाई की थी।
- जितेंद्र ने इसका वीडियो भी बना लिया था, और दोस्तों को शेयर कर दिया था। इसके बाद भी दोनों में एक दो बार मुंहवाद हुआ था। यहीं से खतरनाक रंजिश पनपी और अंजाम हत्या तक पहुंच गया।

दो-दो हजार में खरीदे कट्टे
- दीपक ने पुलिस को बताया, उसने दो-दो हजार में कट्टे खरीदे थे। उसने बताया कि ATM नाम के बदमाश से कट्टे थे, जबकि एटीएम की पहले ही मौत हो चुकी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×