Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Police In Recognition Dilemma Of Headless Body

सिर कटी बॉडी पर दो परिवारों का दावा, एक को बॉडी सौंप असमंजस में पुलिस

सिर कटी बॉडी पर दो परिवारों का दावा, एक को बॉडी सौंप असमंजस में पुलिस

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 17, 2017, 12:07 PM IST

ग्वालियर. शुक्रवार को किला तलहटी में मिली सिर कटी बॉडी की शिनाख्त करने वाले ग्वालियर के एक परिवार को पुलिस ने शनिवार शाम बॉडी सौंप दी। इसके बाद भिंड में मोहनपुर के एक परिवार का दावा सामने आया तो पुलिस असमंजस में पड़ गई। फिलहाल पहले दावा करने वाली फैमिली के मकान से किला तक के रास्ते के CCTV फुटेज खंगाले जाएंगे। एक बॉडी के दो दावेदार, पुलिस की बढ़ी चिंता....



- शुक्रवार दोपहर किला तलहटी में मिली सिर कटी बॉडी को शनिवार शाम शहर में कमल सिंह के बाद के देवीलाल प्रजापति ने पहचानने का दावा किया। देवीलाल के मुताबिक बॉडी 16 दिन पहले काम पर जाने को कह कर निकले और गायब हो गए बेटे सूरज की है। युवक के हाथ पर गोदे गए उसके नाम ‘सूरज’ और उसके कपड़ों के आधार पर देवीलाल ने दावा किया और पुलिस ने बॉडी उसे सौंप दी।
- सिर कटी बॉडी मिलने की सनसनी के शिनाख्त के बाद खत्म हो जाने से पुलिस निश्चिंत हो गई थी, लेकिन शनिवार को ही देर बॉडी का एक और दावेदार सामने आ गया।
- शनिवार देर शाम भिंड के मोहनपुर से आए एक फोन कॉल ने पुलिस की निश्चिंतता खत्म कर दी। मोहनपुर के व्यक्ति का दावा है कि सूरज उनके परिवार का सदस्य था। हालांकि रविवार रात मोहनपुर से फिर फोन आया, और दावा करने वाले ने बताया कि उनका बेटा सूरज रविवार शाम घर वापस आ गया है। इस सूचना से पुलिस को राहत मिली।

काम पर जाने 1 दिसंबर को निकला था, नहीं लौटा
- शनिवार शाम सिर कटी बॉडी ले जाने वाले देवीलाल प्रजापति का दावा है कि उनका बेटा सूरज 1 दिसंबर को घर से काम पर जाने की कहकर निकला था, इसके बाद वापस नहीं लौटा। उसके भी हाथ पर सूरज और शिवलिंग बना हुआ था।
- इसके बाद पुलिस देवीलाल को पोस्टमार्टम हाउस लेकर पहुंची। यहां उन्होंने देखा बॉडी 24 साल के बेटे सूरज प्रजापति की होने की तस्दीक कर दी। हालांकि इस बात का कोई खुलासा नहीं हो सका कि किला तलहटी में कैसे पहुंचा। उसकी मौत हादसा है, आत्महत्या है या हत्या, इसे लेकर देवीलाल का कोई दावा या आशंका आई, न ही पुलिस अब तक तय कर सकी।
- पुलिस जांच कर ही रही थी कि भिंड के मोहनपुर से सूरज नाम के ही एक युवक के परिवार का दावा सामने आने से जांच की दिशा असमंजस में आ गई, लेकिन रविवार रात मोहनपुर का सूरज घर वापस आ गया तो यह निश्चित हो गया कि मरने वाला सूरज प्रजापति ही था।
- पुलिस देवीलाल के घर से किले तक के रास्तों में मिलने वाले CCTV फुटेज खंगालेगी। इसके बाद संदेह का आधार बनने वाले फुटेज देवीलाल को दिखाए जाएंगे।

सूरज की गुमशुदगी दर्ज नहीं कराई
- देवीलाल के मुताबिक सूरज मजदूरी करता है, वह पहले भी वह बिना कहे घर से चला गया था, और कुछ दिन बाद वापस आ गया था। उसने बताया था कि काम करने दिल्ली गया था। पुलिस की पूछताछ में देवीलाल ने गुमशुदगी दर्ज नहीं कराने की यही सफाई दी है।
- पुलिस को प्रारंभिक पड़ताल में पता चला है कि सूरज गांजा का नशा करने का आदी था। उसकी जेब में तीन माचिस भी मिली है। इस संबंध में देवीलाल ने कुछ निश्चित नहीं बताया।

किला तलहटी में इस हाल में मिली थी बॉडी

-शुक्रवार दोपहर बहोड़ापुर टीआई राघवेन्द्र तोमर के पास फोर्ट के चौकीदार बच्चन का फोन आया। उसने बताया कि तलहटी में एक डेड बॉडी पड़ी हुई है। जानकारी मिलते ही TI वहां पहुंचे तो किला तलहटी में बसी न्यू फोर्ट कॉलोनी के पास एक युवक की डेड बॉडी पड़ी हुई थी, बॉडी बिना सिर की थी, लेकिन थोड़ी ही दूरी पर उसकी खोपड़ी पड़ी थी।

- बॉडी के एक हाथ में भगवान शंकर और त्रिशूल का टैटू बना था, और उसी के नीचे सूरज गुदा हुआ था। TI के मुताबिक जिस हाल में डेड बॉडी और उससे अलग हुई खोपड़ी कुछ दूर मिली है, उससे यही लगता है कि इसकी हत्या की गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: sir kti ki laash ke haath par thaa aisaa taitu, fir do alga-alga logon ne kiyaa ye daavaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×