Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Rain Breaks 2-Year-Record For December

शाम होते शुरू हुई बूंदा-बांदी रात में हुई तेज, प्रदेश में हुई सबसे ज्यादा बारिश, टूटा दो साल का रिकार्ड

शाम होते शुरू हुई बूंदा-बांदी रात में हुई तेज, प्रदेश में हुई सबसे ज्यादा बारिश, टूटा दो साल का रिकार्ड

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 07, 2017, 11:06 AM IST

ग्वालियर. ओखी तूफान के असर से ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में बुधवार शाम से बारिश का सिलसिला शुरू हुआ, और देर रात तक जारी रहा। गुरुवार सुबह तक कुल 10.3 mm बारिश दर्ज की गई।बारिश ने 2 दिसंबर 2015 को हुई 6.6 mm बारिश का रिकार्ड तोड़ दिया, ये बारिश ग्वालियर व चंबल दोनों संभागों में हुई। मौसम विभाग के मुताबिक ये चक्रवाती बारिश है और इससे फसलों को फायदा होगा।

- बीते तीन दिन से ओखी तूफान की वजह से ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में बादल छाए हुए थे। बुधवार को दोपहर में हल्की धूप निकली, लेकिन ठंड से लोगों को राहत नहीं मिल सकी। शाम होते-होते रुक-रुक शुरू हुई बूंदा-बांदी तेज बारिश में बदल गई और देर रात तक होती रही।

- बारिश की वजह से तापमान शाम के 20 से 5.8 डिग्री सेल्सियस गिरकर रात को करीब 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। रिमझिम बारिश से सड़कों पर निकलने वाले लोग भीग गए। इसके साथ ही शादियों के पंडालों में भी बारिश ने अफरातफरी मचा दी। लोग ठंड से कांपते हुए नजर आए, कई जगह ठंड से बचाव के लिए अलाव जलते नजर आए।
- गुरुवार सुबह हल्की धूप निकली लेकिन आसमान में छिटपुट बादल नजर आते रहे। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक ओखी तूफान सूरत पहुंचने तक हालांकि कमजोर पड़ गया है, लेकिन ग्वालियर-चंबल में अगले 24 घंटे दौरान बूंदाबादी के आसार हैं, और दिन के तापमान में गिरावट आएगी। शुक्रवार को मौसम पूरी तरह साफ हो जाएगा और कोहरे के साथ कड़ाके की सर्दी की शुरुआत हो जाएगी।

स्लाइड्स में देखें ग्वालियर में हुई बारिश के नजारे....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: shaam se bundaa-baandi shuru, raat mein huee pradesh mein huee sabse jyada baarish, tutaa do saal ka risim card
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×