Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Shankaracharya Swaroopanand Says Not Ram Lala, But Brihma Ram Temple In Ayodhya

अब शंकराचार्य स्वरूपानंद बोले, अयोध्या में राम लला का नहीं आदर्श राजा और ब्रह्म राम का मंदिर बने

अब शंकराचार्य स्वरूपानंद बोले, अयोध्या में राम लला का नहीं आदर्श राजा और ब्रह्म राम का मंदिर बने

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 08, 2017, 02:13 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर आए शारदापीठ और ज्योतिषपीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने अयोध्या में राम लला का नहीं आदर्श राजा और ब्रह्म स्वरूप राम का मंदिर बनाया जाना चाहिए। शंकराचार्य ने कहा कि इसके लिए वह खुद कोशिश कर रहे हैं और विश्व हिंदू परिषद को भी पत्र लिख कर मुहिम के लिए समर्थन मांगेंगे। ये बोले शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती....

- शारदा और ज्योतिष पीठों के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने गुरुवार रात चैंबर ऑफ कॉमर्स में प्रबुद्ध नागरिक मंच के अभिनंदन समारोह में चर्चा करते हुए कहा कि अयोध्या में राम लला नहीं ब्रह्म राम और आदर्श राजा राम का मंदिर बनाया जाना चाहिए।
- शंकराचार्य ने बताया कि इसके लिए वह मुहिम शुरू कर रहे हैं और मुहिम में विश्व हिंदू परिषद को भी शामिल करेंगे।


कार सेवकों ने मंदिर ढहाया, मस्जिद वहां थी ही नहीं
- शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि रामजन्म भूमि पर मस्जिद कभी थी ही नहीं। मैंने अपनी आंखों से मंदिर के चार खंभे देखे। इन खंभों पर हनुमानजी के चित्र भी थे। इस ढांचे को षडयंत्र पूर्वक बाबरी मस्जिद घोषित कर दिया गया था।
- शंकराचार्य स्वरूपानंद ने दावा किया कि बाबरनामा में उसके अयोध्या आने का कोई उल्लेख नहीं है। इस तरह के कोई दूसरे साक्ष्य भी नहीं मिले हैं।
मुझे कोई लालच नहीं है
- शंकराचार्य का जीवन कठिन और परिश्रम से भरा होता है। कोई वेतन नहीं मिलता, जो भी कोई दान देता है वो लोक कल्याण में जाता है। स्वरूपानंद सरस्वती ने बताया कि वह आज भी भिक्षा मांगकर ही भोजन करते हैं।
- उन्होंने कहा कि मुझसे कहा जाता है कि आप शारदापीठाधीश्वर एवं ज्योतिष पीठाधीश्वर दोनों के शंकराचार्य हैं, कोई योग्य व्यक्ति को ढूंढ़कर लाओ, मैं दोनों पीठों से मुक्त हो जाऊंगा।

स्लाइड्स में हैं शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ab shnkaraaChary svrupaannd bole-ayodhyaa mein raam llaa nahi aadrsh raajaa aur brhm raam ka mandir bane
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×