Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Son Said Talk To Mother On Phone Till His Father Death, But Could Not Reach

बेटे को अफसोस, पिता की मौत होने तक मां से फोन पर बात करते रहे, लेकिन समय पर नहीं पहुंच पाए

बेटे को अफसोस, पिता की मौत होने तक मां से फोन पर बात करते रहे, लेकिन समय पर नहीं पहुंच पाए

Sameer Garg | Last Modified - Dec 02, 2017, 06:27 PM IST

ग्वालियर. माधौगंज में शुक्रवार को रिटायर्ड इंजीनियर विनोद गुप्ता के देहांत और उसी दौरान चोरी होने के बाद शनिवार को उनके बेटे रॉबिन गुप्ता पहुंचे। रॉबिन दुखी होते हुए बोले कि वे पिता के बीमार होने से मौत तक मां से फोन पर बात तो करते रहे, लेकिन उन्हें अफसोस है कि वे समय पर पहुंच नहीं पाए। वे पेरेंट्स को साथ रखना चाहते थे, लेकिन बीमारी की वजह से उन्हें साथ नहीं ले जा पाए। यह है मामला......


- रायुपर में पदस्थ इंजीनियर रॉबिन बताते हैं कि पेरेंट्स साथ रहते हैं तो उनकी चिंता ज्यादा नहीं रहती है। लेकिन अगर आप दूर रहते हैं तो चिंता बढ़ जाती थी। मैं माता-पिता से पूरी तरह से जुड़ा था। हर दिन फोन पर बात होती थी हाल-चाल लेता था।

-दो दिन पहले पिताजी की तबियत बिगड़ी मां अस्पताल ले गई। मेरी उनसे बात हुई थी। रात को अस्पताल में रहते हुए भी लगातार बात करता रहा था। मैं उस रात नहीं सोया।

-रात 3 बजे पिता की मौत की खबर मां ने दी। मैं माता-पिता को अपने साथ ले जाना चाहता था। पहले वह अपने घर से जुड़ाव की वजह से नहीं जाते थे। बाद में वह साथ चलने के लिए राजी हो गए थे।

युवाओं को सलाह, पेरेंट्स को साथ रखें

-मैं भी उन्हें साथ ले जाने की तैयारी में था लेकिन कुछ समय से उनकी तबियत खराब रहने लगी इसलिए नहीं ले जा पाए। अंतिम समय मैं पिता के साथ नहीं था इसका मुझे अफसोस है।

-मेरे जैसे कई युवा नौकरी-काम के सिलसिले में बाहर रहते हैं वह माता-पिता को साथ ही रखें। चोर हमारे यहां से रुपयों, एफडीआर के साथ दादी के समय के सिक्के और चांदी के जेवरात ले गए हैं। भाभी की शादी की साड़ियां और कुछ अन्य मेमोरिबल सामान हैं बस वह मिल जाए।

पुलिस ने जांच शुरू की
-पुलिस ने रिटायर्ड इंजीनियर स्व. वीके गुप्ता के यहां पर चोरी की वारदात को सुलझाने के लिए कोशिश शुरू की है। घर के नजदीक स्थित मैदान में बाहरी लोगों के इकट्ठे होने की जानकारी पुलिस तक पहुंची है।

-इस मैदान कौन-कौन आता है इसकी सूची पुलिस बना रही है। पुलिस का अनुमान है कि जिस तरह से चोर सीधे श्री गुप्ता के घर के बाहर आकर रुके हैं उससे लगता है कि वह टारगेट करके आए थे।

-इसके लिए उन्होंने रैकी भी की होगी। जिस सीसीटीवी कैमरे से रात की रिकॉर्डिंग पुलिस ने देखी है दिन की रिकॉर्डिंग भी देखी जाएगी ताकि रैकी करने वाले का चेहरा स्पष्ट हो सके।

स्लाइड्स में है इस मामले के फोटोज........


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×