Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Taansen Music Festival Starts With Taansen Samman To Ulhas Kashalkar

पं.उल्हास कशालकर को मिलेगा तानसेन सम्मान, मीलाद और हरिकथा से शुरू होगा संगीत समारोह

पं.उल्हास कशालकर को मिलेगा तानसेन सम्मान, मीलाद और हरिकथा से शुरू होगा संगीत समारोह

Pushpendra Singh | Last Modified - Dec 21, 2017, 06:47 PM IST

ग्वालियर.पांच दिवसीय अखिल भारतीय तानसेन संगीत समारोह की शुरुआत 22 दिसंबर से होगी। समारोह की 9 संगीत सभाओं का शुभारंभ शुक्रवार शाम तानसेन समाधि स्थल पर होगा। पहले दिन पुणे के गायक पं. उल्हास कशालकर को तानसेन अलंकरण से सम्मानित किया जाएगा। इसी समारोह में पहला राजा मान सिंह तोमर राष्ट्रीय सम्मान 2011-12 के लिए केलुचरण महापात्रा को दिया जाएगा।


- संगीत सम्राट तानसेन की स्मृति में हर साल उनके समाधि-स्थल पर होने वाला संगीत समारोह का पारंपरिक शुभारंभ शुक्रवार सुबह हरिकथा और मीलाद के साथ होगा।
- समारोह का औपचारिक शुभारंभ शुक्रवार शाम को तानसेन अलंकरण के साथ होगा। इस बार तानसेन सम्मान पुणे के गायक पं.उल्हास कशालकर को दिया जाएगा। इस मौके पर कशालकर गायन भी प्रस्तुत करेंगे।
- इसी आयोजन में संगीत सम्राट को भी शिक्षा देने वाले संगीतकार योद्धा राजा मान सिंह तोमर के नाम से शुरू हुए राष्ट्रीय सम्मान भी दिए जाएंगे।
- पहला सम्मान 2011-12 के लिए ओडिसी के गुरू केलुचरण महापात्र को, 2012-13 के लिए त्रिवेणी कला संगम, 2013-14 के लिए रंग श्री लिटिल बैले ट्रुप, 2014-15 के लिए बॉम्बे आर्ट सोसाइटी, 2015-16 के लिए श्री इदगुंजी महागणपति यक्षगान मंडली कर्नाटक और 2016-17 के लिए नांदीकर कोलकाता को दिया जाएगा।
- समारोह में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, विशिष्ट अतिथि नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्री माया सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया, प्रभारी मंत्री गौरीशंकर बिसेन, संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री सुरेंद्र पटवा, महापौर विवेक शेजवलकर शामिल होंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pn.ulhaas kshaalkar ko milegaaa taansen smmaan, milaad aur harikthaa se shuru hoga sngait smaaroh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×