Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Tansen Music Festival Theme On 1200 Years Old Bateshwar Temple

१२०० साल पुराने बटेश्वर मंदिर थीम पर तैयार हुए स्टेज में इस बार आयोजित होगा तानसेन समारोह

१२०० साल पुराने बटेश्वर मंदिर थीम पर तैयार हुए स्टेज में इस बार आयोजित होगा तानसेन समारोह

Sameer Garg | Last Modified - Dec 16, 2017, 12:16 PM IST

ग्वालियर. करीब 1200 साल पुराने बटेश्वर मंदिर समूह की थीम पर इस बार तानसेन संगीत समारोह का स्टेज और मंडप तैयार किया जा रहा है। ये वही मंदिर हैं, जिनका निर्माण प्रतिहार वंश ने कराया था। ऐसे 200 मंदिर की पूरी चेन बटेश्वर में थी, जिसमें से 100 मंदिर को फिर से भारतीय पुरातत्व विभाग (ASI) ने तैयार किया है। ये है बटेश्वर मंदिरों का इतिहास....


-प्रतिहार राजवंश ने मुरैना के पास बटेश्वर में कई मंदिरों का निर्माण कराया था। इस राजवंश के सम्राट मिहिरभोज ने 1200 साल पहले, यानि 8वीं शताब्दी में इन मंदिरों का निर्माण करवाया और करीब 300 साल तक उनके वशंज ये मंदिर बनाते रहे।
-भगवान् शिव और विष्णु को समर्पित ये मंदिर खजुराहो से भी तीन सौ वर्ष पूर्व बने थे। चूंकि चंबल के बीहड़ में ये मंदिर थे और डकैतों के आतंक के कारण कोई यहां तक जाता नहीं था।
-इसी बीच कुछ प्राकृतिक कारणों से ये मंदिर टूट गए। करीब 12 साल पहले एएसआई ने इन मंदिरों का निर्माण फिर से किया। आज करीब 100 से ज्यादा मंदिर फिर से बनाए जा चुके हैं। अभी भी काफी मंदिरों का निर्माण यहां किया जा रहा है।

तानसेन समारोह की थीम बने बटेश्वर मंदिर
-इसी बटेश्वर मंदिर समूह को लेकर इस साल के तानसेन समारोह का स्टेज तैयार किया जा रहा है। इससे सदियों पुराने मंदिरों को दुनिया के सामने लाने का मौका मिलेगा।

-इसके लिए 7000 वर्ग फीट का पूरा मंडप तैयार किया जा रहा है। इसी के अंदर स्टेज होगा और एक हजार से ज्यादा श्रोता भी बैठ सकेंगे। इसी मंडप के पास बटेश्वर मंदिर का इतिहास बताने वाले फोटोग्राफ भी लगाए जाएंगे।

स्लाइड्स में है बटेश्वर मंदिर से जुड़े फोटोज.....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 1200 saal purane bteshvr mandir bane taansen sngait smaaroh ke mndp ki thim
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×