Home | Madhya Pradesh | Gwalior | teacher suicides under depression of torture in school campus

असामाजिक तत्वों की मारपीट से क्षुब्ध होकर शिक्षक पहले छत से कूदा, जान नहीं गई तो ब्लेड से गला रेत लिया

असामाजिक तत्वों की मारपीट से क्षुब्ध होकर शिक्षक पहले छत से कूदा, जान नहीं गई तो ब्लेड से गला रेत लिया

Pushpendra Singh| Last Modified - Dec 06, 2017, 07:22 PM IST

teacher suicides under depression of torture in school campus
असामाजिक तत्वों की मारपीट से क्षुब्ध होकर शिक्षक पहले छत से कूदा, जान नहीं गई तो ब्लेड से गला रेत लिया
ग्वालियर. दतिया में भांडेर के बरकी सराय मोहल्ले के सरकारी स्कूल में पदस्थ टीचर राजेश के साथ स्कूल में आयोजित MLA कप खेलों असमाजिक तत्वों ने मारपीट की थी। इस दौरान साथी टीचर्स ने भी राजेश का साथ नहीं दिया था। इस मारपीट से क्षुब्ध होकर वह पहले छत से नीचे कूदा, फिर भी नहीं मरा तो  ब्लेड से खुद का गला रेत लिया। घायल हालत में परिजन उसे हॉस्पिटल लाए, यहां बुधवार को उसकी मौत हो गई। ये है मामला....
 

 -  राजेश ओझा शासकीय शिक्षक के तौर पर छह सितंबर 2011 को नियुक्ति हुई थी। तब से वह अकबई गांव के सरकारी स्कूल में पदस्थ था। हाल ही में उसका ट्रांसफर भांडेर में ठकुरदास मोहल्ले के शासकीय माध्यमिक विद्यालय बरकी सराय में हुआ था। पिछले महीने 20 नवंबर को स्कूल में विधायक कप टूर्नामेंट का आयोजन हुआ था।
 - स्कूल के हैडमास्टर महेंद्र श्रीवास्तव के मुताबिक टूर्नामेंट के दिन ही मोहल्ले के असामाजिक तत्वों ने शिक्षक राजेश के साथ मारपीट कर दी थी। मारपीट से क्षुब्ध राजेश रिपोर्ट कराने जा रहा था, लेकिन स्कूल के स्टाफ ने उसका सहयोग नहीं किया।  
 - इसके बाद राजेश ने 21 और 22 नवंबर की CL ले ली, और सीएल खत्म होने के बाद भी राजेश वापस स्कूल नहीं पहुंचा। राजेश 13 दिन से लीव पर ही चल रहा था।
 
 शराब के नशे में पहले छत से कूदा, बच गया तो गला रेता 
 - राजेश ओझा मूलतः सेंवढ़ा के अतरेटा गांव का रहने वाला है, लेकिन ठकुरास मोहल्ले के स्कूल में ट्रांसफर होने के बाद भांडेर में ही विधायक कॉॅलोनी में किराए से अपनी पत्नी आशा व दो बच्चों के साथ रहता था।
 - 11 दिसंबर को उसके भतीजे गिरजेश के बेटे का फलदान आना था, इसलिए वह सोमवार को भांडेर से अतरेटा पहुंचा था। मंगलवार शाम वह शराब के नशे में धुत होकर घर आया।
 - आत्महत्या करने के लिए उसने पहले मकान की छत से छलांग लगाई, लेकिन बच गया। इसके बाद घर के अंदर जाकर गले में ब्लड मार लिया। यह देख पत्नी आशा ने गांव के लोगों को बुलाया और तत्काल उसे हॉस्पिटल ले जाया गया। इलाज के दौरान बुधवार शाम उसकी मौत हो गई।
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now