ग्वालियर

--Advertisement--

दोपहर को चोरी करने घर में घुसे चोर को महिलाओं ने ऐसे पकड़ा

दोपहर को चोरी करने घर में घुसे चोर को महिलाओं ने ऐसे पकड़ा

Danik Bhaskar

Jan 22, 2018, 05:51 PM IST
थाने में खड़ा चोर, जिसने हाथ जो थाने में खड़ा चोर, जिसने हाथ जो

ग्वालियर. शिंदे की छावनी स्थित एक घर में दिनदहाड़े चोर घुस गया। जब वह घर में घुसा तो सास-बहू छत पर धूप लेने के लिए गई थीं। चोर ने अलमारी खोलकर नकदी, सोना-चांदी के जेवरात भी समेट लिए और जब निकलने को हुआ तभी वृद्ध वापस आ गए। उन्हें देखते ही वह धक्का देकर भाग निकलने की कोशिश की, लेकिन बाहर खड़ी महिलाओं ने शोर सुनते ही चोर को दबोच लिया। इसके बाद उसे पुलिस को सौंप दिया। यह है मामला.....


-शिंदे की छावनी स्थित नबाव साहब का कुआं क्षेत्र में रहने वाले कप्तान सिंह यादव लैंड रिकॉर्ड विभाग से रिटायर्ड हैं। सोमवार दोपहर में काम खत्म होने के बाद उनकी पत्नी और बहू छत पर धूप लेने के लिए चले गए।

कप्तान सिंह दोपहर करीब 3 बजे वह मंदिर चले गए। छत पर उनके परिजन मौजूद थे इसलिए नीचे लॉक लगाकर नहीं गए। इसी दौरान दबे पांव उनके घर में एक चोर घुस गया।

-चोर ने नीचे कमरे में रखी अलमारी खोली और उसमें रखे नकद रुपए, सोना-चांदी के जेवरात निकाल लिए। वह वापस निकल ही रहा था कि अचानक कप्तान सिंह वहां आ गए।

महिलाओं ने चोर को पकड़ा

-उन्होंने जैसे ही गेट खोला तो वह अंदर खड़ा था। जैसे ही उसने देखा तो उन्हें धक्का दिया और भाग निकला। वह शोर मचाते हुए बाहर निकले। चोर गलती से उस गली में घुस गया जो गली आगे से बंद थी।

गली के इस छोर पर कप्तान खड़े हो गए। उन्हें फिर चकमा देकर भागा लेकिर शोर सुनकर कुछ दूरी पर खड़ी महिलाओं को पता लग गया कि वह चोर है। उन्होंने इसे पकड़ लिया। पास में ही खड़े युवक भी तत्काल आ गए।

-इसके बाद उसकी पिटाई लगाई। पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस वहां आ गई। पुलिस के साथ उसे लेकर थाने पहुंचे।


पकड़े जाते ही बेहोशी और मिर्गी का नाटक
-जैसे ही चोर पकड़ा गया तो उसने बेहोशी और मिर्गी का नाटक शुरू कर दिया। थाने में भी उसने मिर्गी का नाटक किया।

-फिर हाथ जोड़कर माफी मांगने लगा। उसने अपना नाम भी सही नहीं बताया। कभी अपना नाम संजय तो कभी संदीप बता रहा था। वह नशा भी किया हुआ था।

Click to listen..