Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» After 15 Years Struggle, Made Identity In Film Industry , Said Meet Brothers

स्कूल में गाने लिखकर १५ साल स्ट्रगल किया, तब बनी पहचान, ये है मीत ब्रदर्स की कहानी

स्कूल में गाने लिखकर १५ साल स्ट्रगल किया, तब बनी पहचान, ये है मीत ब्रदर्स की कहानी

Sameer Garg | Last Modified - Nov 14, 2017, 03:07 PM IST

ग्वालियर.स्कूल में स्टडी करते हुए गाने, लोगों ने मजाक भी उड़ाया। एक गाना लिखकर उस पर रैप स्टाइल से गाकर वीडियो बनाया। लोगों को पसंद आय़ा तो लिखना छोड़कर सिंगिंग करने लगे। फिर मुंबई में 15 साल तक संघर्ष किया। कुछ वीडियो भी बनाए, लेकिन जैसे ही बेबी डॉल, पार्टी तो बनती है, गाना हिट हुआ तो लाइफ ही बदल गई।
-यह कहानी है बालीवुड सिंगर मीत ब्रदर्स, यानि हरमीत और मनमीत की। मीत ब्रदर्स एमआईटीएस के एनुअल प्रोग्राम में शो करने ग्वालियर आए थे। दोनों भाईयों ने अपने कैरियर स्ट्रगल की कहानी स्टूडेंट्स से शेयर की।
-मीत ब्रदर्स ने बताया कि वे ग्वालियर में ही पले-बढ़े और यही स्टडी की। उनके पिता गुलजार सिंह बिजनेसमैन हैं, लेकिन वे अलग करना चाहते थे। स्कूल टाइम में गाने लिखा करते थे, लेकिन कुछ गाने उन्होंने लिखकर गाए तो लोगों ने कहा कि सिंगिंग में कैरियर बनाना चाहिए।
15 साल स्ट्रगल करके मिली पहचान
-इस सलाह पर अमल करने के लिए वे मुंबई, बालीवुड में अपना कैरियर तलाशने चले गए। बालीवुड में स्ट्रगल पूरे 15 साल चला। कुछ लाइव शोज किए। कई बार तो लगा कि वापस घर लौट ले और बिजनेस संभालें।
-कुछ समय म्यूजिक वीडियो भी बनाए। इस बीच बेबी डॉल , पार्टी तो बनती है और चिट्ठियां कलाइयां सांग गाए। इन सांग्स को बढ़िया रिस्पांस मिला और बालीवुड में पहचान बन गई। अब हम दोनों भाई फिल्म इंड्रस्टी में स्थापित हो गए हैं।
युवाओं को देगें कैरियर एडवाइस
-हरमीत और मनमीत दोनों का कहना है कि वे ग्वालियर के उन यूथ को मदद करना चाहते हैं, जो बालीवुड में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। जो सलाह उन्हें नहीं मिली, वे युवाओं को देंगे।
-इसके लिए वे एक बेव सीरीज बना रहे हैं, जिसमें ग्वालियर के ऊपर फोकस रहेगा। इससे यहां के युवाओं का कैरियर बन सके।
स्लाइड्स में है मीत ब्रदर्स के फोटोज......
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×