--Advertisement--

विदेशी टूरिस्ट ऐसे १०० साल पुरानी नैरोगेज ट्रेन में घूमे और लिए फोटो

विदेशी टूरिस्ट ऐसे १०० साल पुरानी नैरोगेज ट्रेन में घूमे और लिए फोटो

Dainik Bhaskar

Nov 25, 2017, 01:56 PM IST
नैरोगेज के इंजन पर विदेश टूरिस नैरोगेज के इंजन पर विदेश टूरिस

ग्वालियर. सिंधिया रियासत के समय से चलने वाली नैरोगेज ट्रेन को जैसे ही विदेशी टूरिस्ट ने स्टेशन पर देखा, वैसे ही उसमें सफर करने की इच्छा हो गई। उनके टूर ऑपरेटर ने तुरंत टिकट का बंदोबस्त किया और जर्मनी और आस्ट्रिया से आए टूरिस्ट इस ट्रेन में बैठ गए। स्टेशन से वे नैरोगेज ट्रेन में सफर करते हुए मोतीझील तक गए। इस बीच टूरिस्ट ने इंजन से लेकर बोगी में ढेर सारे फोटो लिए।
 

 

-शुक्रवार को जर्मनी और आस्ट्रिया से आए विदेशी टूरिस्ट का एक ग्रुप रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतरा। स्टेशन के 5वें प्लेटफॉर्म पर 100 साल से ज्यादा पुराने नैरोगेज ट्रैक पर चलने वाली ट्रेन खड़ी थी।
-कुछ टूरिस्ट इस ट्रेन को देखने पहंच गए और वहीं पर उन्होंने अपने ऑपरेटर से इसमें सफर करने की इच्छा जाहिर की। टूरिस्ट की इच्छा को देखकर ऑपरेटर ने तुरंत टिकट का इंतजाम किया।
-इसके बाद करीब 15 टूरिस्ट नैरोगेज ट्रेन में बैठ गए। यह ट्रेन धीरे-धीरे चलती हुई स्टेशन से रवाना हुई। टूरिस्ट को इसकी धीमी स्पीड अच्छी लगी और उन्होंने ट्रेन के भीतर कई फोटो लिए।

 

मोतीझील स्टेशन तक किया सफर
-टूरिस्ट ट्रेन में दूसरे यात्रियों के साथ बैठे। यात्री भी उन्हें देखकर अचकचाए, लेकिन फिर संभल गए। टूरिस्ट ने नैरोगेज ट्रेन से शहर की सीमा के बाहर बने मोतीझील स्टेशन तक सफर किया।
-नैरोगेज ट्रेन में उनका सफर रोमांच से भर रहा। एक टूरिस्ट ने कहा कि इसकी धीमी स्पीड अच्छी लगी। हालांकि भीड़ भी थी, लेकिन सफर अच्छा लगा। इसके बाद टूरिस्ट ने ट्रेन के साथ इंजन और उसमें सफर करने वालों के कई फोटोज लिए।

 

स्लाइड्स में है और फोटोज........

X
नैरोगेज के इंजन पर विदेश टूरिसनैरोगेज के इंजन पर विदेश टूरिस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..