Hindi News »Madhya Pradesh News »Gwalior News» Mentally Disable Delivers Son, Kin Arrives To Take Her Home

बेटी के साथ भटकती रही गली-गली, लोग समझते रहे पागल, बेटा हुआ तो लेने आ गए परिजन

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 08:40 AM IST

शहर की गलियों में भटक रही महिला की ससुराल वालों को जैसे ही पता चला कि बेटा हुआ है, तो वे उसे लेने अस्पताल पहुंच गए।
बेटी के साथ भटकती रही गली-गली, लोग समझते रहे पागल, बेटा हुआ तो लेने आ गए परिजन
ग्वालियर.रिश्तों में बेटा-बेटी के जन्म से फर्क किस तरह आ जाता है यह रविवार को शिवपुरी के करैरा में हुए एक वाकए से एक बार फिर उजागर हुआ। शहर की गलियों में कई दिनों से एक मां दो साल की बेटी के साथ इधर-उधर घूमती रहती थी। रविवार को उसने ने सरकारी ऑफिसर्स के बंगलों के सामने सड़क पर ही एक बेटे को जन्म दिया। उसे तत्काल हॉस्पिटल भेजा गया। महिला की ससुराल वालों को जैसे ही पता चला कि बेटा हुआ है, तो वे उसे लेने अस्पताल पहुंच गए।ये है मामला....

- शिवपुरी में करैरा के पास टोरिया टोकन पुरा की 30 साल की भारती 2 साल की बेटी को गोद में लिए कस्बे की गलियों में कई दिनों से भटक रही थी। दिन में किसी ने कुछ दे दिया तो कुछ खा लिया और बेटी रोई तो उसे दूध पिला दिया। रात हुई तो खुले आसमान तले बेटी को आंचल में छिपा कहीं भी सो जाती थी। इस दौरान किसी ने ध्यान नहीं दिया की भारती प्रेग्नेट भी है।
- रविवार की शाम भारती ने तहसीलदार और SDOP के बंगलों के सामने सड़क किनारे खुले में ही भारती ने एक बेटे को जन्म दिया।
सूचना के 1.5 घंटे बाद पहुंची हॉस्पिटल की टीम
- महिला को तड़पते देख राहगीरों ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम करीब 1.5 घंटे बाद मौके पर पहुंची तब तक भारती के बेटे का जन्म हो चुका था।
- स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जननी सुरक्षा वैन से मां को बेटी और नवजात बेटे के साथ प्राइमरी हैल्थ सेंटर में भर्ती कराया गया।
बेटे के जन्म की सूचना मिली तो पहुंच गए परिजन
- करैरा के देवीलाल शर्मा ने बताया कि महिला कई दिनों से खुले आसमान के नीचे रह रही थी, और कोई उसे लेने नहीं आता था, लेकिन बेटा होने की सूचना मिली तो ससुराल वाले वहां पहुंच गए।
- उन्होंने बताया कि भारती कैलाश जाटव की पत्नी है। उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। बाद में परिजन उसे बेटा-बेटी समेत हॉस्पिटल से ले गए।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Gwalior News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: beti ke saath bhtkti rhi gali-gali, loga smjhte rahe paagal, betaa hua to lene aa gae parijn
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Gwalior

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×