Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Mother Depressed After Only Son Suicides, Hangs On Noose

हफ्ते भर पहले बेटे ने जहर खाकर की थी खुदकुशी, मां ने भी खाना पीना छोड़ा और लगा ली फांसी

हफ्ते भर पहले बेटे ने जहर खाकर की थी खुदकुशी, मां ने भी खाना पीना छोड़ा और लगा ली फांसी

Pushpendra Singh | Last Modified - Nov 05, 2017, 12:34 PM IST

ग्वालियर.सात दिन पहले बेटे ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली तो मां ने भी उसी दिन से खाना पीना छोड़ दिया था। परिजन के लाख समझाने के बावजूद इकलौते बेटे की मौत से दुखी मां ने खाना नहीं खाया। ढांढस बंधाने पर इतना ही कहती थी कि मैं भी बेटे के पास जाऊंगी। आखिरकार उसने शनिवार रात साड़ी को फंदा बनाया और फांसी पर झूल गई। ये है मामला....


- शहर के गोले का मंदिर इलाके की शांतिनगर कॉलोनी में रहने वाले मोहन सिंह मालनपुर इंडस्ट्रियल एस्टेट की जमुना ऑटो लिमिटेड में नौकरी करते हैं। उनका इकलौता बेटा ईमान 11 वी का स्टूडेंट था।
- ईमान ने हफ्ते भर पहले जहर खा कर खुदकुशी कर ली थी, इकलौते बेटे के गम में मां अंगूरी सदमे में सुधबुध को बैठी थी, उसने ने खाना पीना छोड़ दिया। परिजन उसे धीरज रखने के लिए समझाते थे तो वह कहती थी, ईमान अकेला होगा, वह जहां गया है वहीं मैं भी जाऊंगी। वह ईमान के कमरे में उसकी तस्वीर के सामने बैठ कर कहती थी, बेटा मैं भी तेरे पास आ रही हूं।
बेटे के गम में लगा ली फांसी
- ईमान की मौत के बाद से अंगूरी ने परिजन के लाख समझाने के बाद भी खाना नहीं खाया, उसकी हालात गिरती जा रही थी। बेटी रजनी भी भाई के गम से सदमें में थी, लेकिन मां की हालत देख उसकी सेवा में जुटी रहती थी और निगरानी भी रखती थी।
- शनिवार रात को भी रजनी के समझाने के बावजूद अंगूरी ने खाना नहीं खाया। परिवार के सब लोग सो गए तो अंगूरी साथ ही सो रही बेटी रजनी को छोड़ चुपचाप बाहर निकली और बेटे के कमरे में पहुंची और फांसी के फंदे पर झूल गई।
- रजनी की नींद खुली तो मां को गायब देख उसे तलाशने बाहर निकली, मां कहीं नहीं मिली तो रजनी भाई के कमरे में भी गई। कमरे में मां को फांसी पर झूलती देख रजनी की चीख निकल गई। उसकी आवाज सुन परिजन वहां पहुंचे और अंगूरी को नीचे उतारा। परिजन तत्काल अंगूरी को लेकर हॉस्पिटल पहुंचे, लेकिन वहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।
- मां की मौत की खबर सुनते ही 17 साल की बेटी रजनी भी सदमें में आ गई। पहले से भाई के गम में दुखी रजनी को मुरार के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, हालांकि उसकी हालत में सुधार के बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया।
- पत्नी की मौत की खबर सुनते ही खुद मोहन सिंह भी बेहाल हो गए और पोस्टमॉर्टम कराने उनके छोटे भाई नवल सिंह को जाना पड़ा। अंगूरी की मौत की खबर मिल के बाद से शांति नगर में मातम छाया हुआ है।
स्लाइड्स में है खुदकुशी करने वाला इकलौता बेटा और उसके गम में फांसी पर झूली मां....
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×