--Advertisement--

ङ्खद्धड्डह्लह्य्रश्चश्च पर हॉलीवुड मूवी की मर्डर क्लिप देख बनाया वॉचमेन के मर्डर का प्लान, चोरी पकड़ने का लिया बदला

ङ्खद्धड्डह्लह्य्रश्चश्च पर हॉलीवुड मूवी की मर्डर क्लिप देख बनाया वॉचमेन के मर्डर का प्लान, चोरी पकड़ने का लिया बदला

Danik Bhaskar | Nov 28, 2017, 06:36 PM IST
संजू ने इसी कुएं में फेंक दी थी संजू ने इसी कुएं में फेंक दी थी

ग्वालियर. गैस गोदाम के वॉचमेन ने चोरी करते पकड़ा तो ठान लिया कि बदला जरूर लेगा। तभी WhatsApp पर एक मूवी क्लिप आई। उसे देख चोर के मन में वॉचमेन के मर्डर की प्लानिंग आ गई। उसने बीते शनिवार 25 नवंबर की रात अपनी प्लानिंग पर को अंजाम दे दिया। छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि वॉचमेन ने आरोपी को चोरी करते पकड़ा था, लिहाजा उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया। ये है मामला....

- मुरैना के मां बृजेश्वरी गैस गोदाम पर तैनात वॉचमेन गोरेलाल जाटव नाइट ड्यूटी करने शुक्रवार की रात 10.30 बजे पहुंचा था। शनिवार की सुबह 7 बजे तक ड्यूटी से वापस घर नहीं पहुंचा। तो छोटे बेटे अजय ने मोबाइल पर कॉल कर बात करने की कोशिश की।

- मोबाइल स्विच ऑफ आया तो अजय पिता को तलाशने गैस गोदाम गया। दरवाजा खटखटाने पर अंदर से कोई रिस्पोंस नहीं आया तो अजय को कुछ शंका हुई। वह वापस गया और बड़े भाई दिनेश को साथ लेकर दोबारा से गोदाम पर पहुंचा। दोनों भाई गोदाम की बाउंड्री वॉल पर चढ़ कर अंदर कूदे।
- बरामदे में उन्हें खून के छींटे नजर आए। शोर-शराबा सुनकर सहराना गांव के लोग भी मौके पर आ गए। गोरेलाल को कैंपस में तलाश किया गया, लेकिन वह कहीं नजर नहीं आया। गोदाम के पीछे खेतों में चारपाई खींचे जाने के निशान नहर तक नजर आए, लेकिन वहां भी गोरेलाल कहीं नहीं मिला। ग्रामीणों ने गोदाम के पास खेत में बने कुएं में झांककर देखा तो गोरेलाल की बॉडी नजर आ गई।


संजू जाटव पर पुलिस को हुआ शक
- सहाराना गांव के संजू जाटव गोरेलाल से पहले गैस गोदाम का वॉचमेन था। उसने 13 नवंबर को खिड़की तोड़ कर गैस के चूल्हे चुराने की कोशिश की थी। चौकीदार गोरेलाल जाटव ने देख लिया था। गोरेलाल ने इसकी शिकायत गैस एजेंसी की मालिक रचना सिंह से की थी।
- चोरी पकड़े जाने से बौखलाकर अगले दिन गोरेलाल के घर पहुंचकर उससे गालीगलौज करते हुए धमकी भी दी थी। ये जानकारी मिलने पर पुलिस ने संजू को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया।


WhatsApp पर मिला मर्डर का आइडिया
- पुलिस पूछताछ में संजू ने बताया कि कुछ दिन पहले WhatsApp पर एक हॉलीवुड मूवी की क्लिप आई थी। इसमें एक व्यक्ति ने मर्डर करते समय थोड़ी के नीचे गोली मारी तो वह सिर के पिछले हिस्से से निकल गई थी।

- इसे देखकर उसे समझ में आया कि सिर का पिछला हिस्सा बेहद कमजोर होता है. यहां एक प्रहार से ही व्यक्ति को मौत के घाट उतारा जा सकता है।
- बाद में 24 नवंबर की रात वह बाउंड्री फांदकर गैस गोदाम में घुसा और मौका देखकर गोरेलाल की हत्या कर दी। संजू के ने बताया कि वह दो-तीन बार पहले भी प्रयास कर चुका था, लेकिन नाकाम रहा था।

तीन घंटे में दिया वारदात को अंजाम
- पुलिस ने बताया कि संजू ने वारदात को 3 घंटे में अंजाम दे दिया था। वह 24 नवंबर की रात 11.30 बजे बाउंड्री फांदकर गोदाम में घुसा और चारपाई पर सो रहे वॉचमेन गोरेलाल को छिपकर देखता रहा।

- वॉचमेन गहरी नींद सो गया तो संजू ने साथ लाए लोहे के एंगल से सिर के बगल में वार किया जिससे गोरेलाल की चीख निकली और वह पलट गया। इसके बाद संजू ने सिर के पिछले हिस्से में एक और प्रहार किया जिससे उसकी मौत हो गई।
- गोरेलाल के मरने के बाद संजू ने बॉडी के पैर रस्सी से बांधे और खींचकर बाउंड्री के पास ले गया। रस्सी के सहारे बॉडी को बाउंड्री के पार कर पास के खेत में बने कुएं के पास ले गया उसमें धकेल दिया।

- इसके बाद संजू दोबारा गोदाम कैंपस में कूदा और वहां रखी बाल्टी उठाकर पास ही में नहर से पानी भरकर लाया। इस पानी से उसने गोरेलाल की चारपाई के पास पड़े खून के छींटों को साफ किया और उसके ऊपर मिट्टी डाली।
- इसके बाद संजू ने गोरेलाल की चारपाई उठाकर खेत में फेंकी, उसे खींचकर नहर तक ले गया और बहा दिया। इसके बाद शनिवार रात 2:30 बजे संजू घर जाकर सो गया।
- गोरेलाल के मर्डर आरोपी संजू के घर से पुलिस ने चोरी की एक बाइक भी बरामद की है। यह बाइक उसने 10 नवंबर को बैरियर चौराहा के पास से चुराई थी। बाइक सूबालाल का पुरा के प्रेम सिंह जाटव की है।


पांच दिन पहले नौकरी छोड़ने की जताई थी इच्छा
- गोरेलाल जाटव ने 20 नवंबर को गैस एजेंसी की मालिक रचना सिंह से अनुरोध किया था कि उसे सैलरी देकर नौकरी छोड़ने की अनुमति दी जाए।

- उसने बताया था कि आसपास के लोग आए दिन गोदाम से चोरी की फिराक में रहते हैं। इसलिए वह रात में खुद को असुरक्षित महसूस करता है। रचना सिंह ने गोरेलाल चार-पांच दिन बाद हिसाब लेकर नौकरी छोड़ने की अनुमति दे दी थी, लेकिन उससे पहले ही संजू जाटव ने उसे मार डाला।

स्लाइड्स में है, वॉचमेन गोरेलाल और मर्डर का आरोपी संजू जाटव.....