ग्वालियर

--Advertisement--

तानसेन संगीत समारोह की शुरुआत २२ दिसंबर से, इस बार नहीं आएंगे विदेशी आर्टिस्ट

तानसेन संगीत समारोह की शुरुआत २२ दिसंबर से, इस बार नहीं आएंगे विदेशी आर्टिस्ट

Danik Bhaskar

Nov 28, 2017, 01:18 PM IST
इस साल 22 दिसंबर से आयोजित होगा इस साल 22 दिसंबर से आयोजित होगा

ग्वालियर. संगीत सम्राट तानसेन को स्वरांजलि देने वाले तानसेन संगीत समारोह का आयोजन 22 दिसंबर से होगा। तानसेन समारोह के एक दिन पहले उपनगर हजीरा में गमक का आयोजन होगा, जिसमें भजन गायक अनूप जलोटा अपनी प्रस्तुति देंगे। 5 दिन लगातार चलने वाले तानसेन समारोह के कार्यक्रम उनकी समाधि, जन्म स्थली और गूजरी महल में होंगे। पांच दिन चलेगा तानसेन समारोह.....
    

- देश का सबसे प्रतिष्ठित शास्त्रीय संगीत का तानसेन समारोह की तैयारियां शुरू हो गई हैं। यह समारोह 22 से 26 दिसंबर तक आय़ोजित होगा। यह देश का अकेला संगीत समारोह है, जो लगातार 93 सालों से आयोजित हो रहा है।
- समारोह की तैयारियों के लिए अफसरों ने एक बैठक की और तय किया गया कि 5 दिन तक चलने वाले समारोह में कुल 9 संगीत सभाएं होगीं। इसमें 7 सभाएं मोहम्मद गौस के मकबरा परिसर में बनी तानसेन समाधि के पास होंगी।
- संगीत समारोह की आखिरी सभा का आयोजन तानसेन की जन्म स्थली बेहट में झिलमिल नदी के किनारे होगा, समापन उसी दिन शाम को गूजरी महल में होगा।
- तानसेन समारोह के एक दिन पहले उपनगर हजीरा में 21 दिसंबर को 'गमक' संगीत का आयोजन होगा। इसमें भजन गायक अनूप जलोटा अपनी प्रस्तुति देंगे। गमक का आयोजन 2016 से शुरू किया गया है।


विदेशी आर्टिस्ट इस बार नहीं आएंगे
- पिछले दो वर्षों से तानसेन समारोह को अंतरराष्ट्रीय बनाने की कोशिश की जा रही थी और विदेशी आर्टिस्ट ग्वालियर आकर अपने देश के शास्त्रीय संगीत की प्रस्तुति देते थे। संस्कृति विभाग के मुताबिक विदेशी आर्टिस्ट को लोगों ने ज्यादा पंसद नहीं किया, जिसके कारण इस बार उन्हें नहीं बुलाया जाएगा।

- इसके अलावा अभी सरकार ने तय नहीं किया है कि इस साल का तानसेन सम्मान किस आर्टिस्ट को दिया जाएगा। संभावना है कि अगले महीने ही इसकी घोषणा होगी।

स्लाइड्स में है फोटोज....

Click to listen..