Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Three Boy Dead From Gas, Bodies Found In Caterer House

रात को कमरे में सोए ये तीन लड़के, सुबह मिली डेड बॉडी, ये वजह आई सामने

रात को कमरे में सोए ये तीन लड़के, सुबह मिली डेड बॉडी, ये वजह आई सामने

Sameer Garg | Last Modified - Nov 28, 2017, 02:08 PM IST

ग्वालियर. मुरैना के सबलगढ़ कस्बे में मंगलवार सुबह उस समय हड़कंप मच गया, जब कैटरिंग ठेकेदार के घर 3 लड़कों की डेड बॉडी मिली। ये तीनों रात को एक शादी में काम कर लौटे थे और उसी कमरे में सो गए, जहां कोयला से जलता हुआ तंदूर रखा था। इनके साथ एक और साथी भी था, लेकिन उसकी जान बच गई। आशंका है कि तंदूर से निकली कॉर्बन डाइऑक्साइड और ऑक्सीजन कम होते जाने से बनी कार्बन मोनो-ऑक्साइड की वजह से लड़कों का दम घुट गया और मौत हो गई। यह है मामला.....

-मुरैना के सबलगढ़ कस्बे में नौरंगी ठेकेदार कैटरिंग का काम करता है। उसके यहां 4 लड़के, शुभम, सचिन, अजीत और विक्की काम करते हैं। ये चारों लड़के नाबालिग हैं।
-बीती रात को चारों एक शादी में काम करके आए और नौरंगी ठेकेदार के घर में ही सो गए। चारों जिस कमरे में सोए, वहां सुलगता हुआ तंदूर रखा हुआ था।
-इसमें शुभम, सचिन और अजीत तो पलंग पर सोए, लेकिन जगह नहीं मिलने पर विक्की बेड के नीचे सो गया। मंगलवार की सुबह नौरंगी बच्चों को जगाने पहुंचा तो विक्की को छोड़कर तीनों नहीं उठे।

तीनों की सोते में ही हुई मौत
-विक्की और नौरंगी ने तीनों को उठाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वे नहीं जागे। नौरंगी ने उनकी नब्ज पर हाथ रखा, तो तीनों मृत थे। तीन लड़कों की मौत की खबर सुनकर उनके परिजन भी वहां पहुंच गए।
-देखते ही देखते वहां कोहराम मच गया, और गुस्साए लोगों सबलगढ़ कस्बे में जाम लगाना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस भी वहां पहुंच गई और उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया, तब जाकर परिजन वहां से हटे।


तंदूर से निकली गैस से हुई मौत
-पुलिस ने उस कमरे में जाकर जांच की तो कमरे में तो वहां कोयले से सुलगते हुए दो तंदूर मिले। रात को शादी से इन तंदूर को कोयला सहित लाकर रख दिया था। इसके बाद चारों लोग इसी कमरे में सो गए।
-इस बारे में मुरैना के एडीशनल एसपी अनुराग सुजानिया ने बताया कि जिस कमरे में दो तंदूर रखे मिले हैं। इन्हीं तंदूरों से निकली कार्बन डाई-ऑक्साइड से कमरे में कार्बन मोनो-ऑक्साइड बनी और इनकी वजह से लड़कों की दम घुट गई और उनकी मौत हो गई।

दम घुटने से हुई मौत
-जिस कमरे में लड़के सोए थे, वहां कोई रोशनदान भी नहीं था, जिसके कारण गैस कमरे में भरती रही और तीनों लड़कों की दम घुटने से मौत हो गई।
-चूंकि विक्की पलंग के नीचे सोया था, इस वजह से उस पर कार्बन मोनो-ऑक्साइड का प्रभाव नहीं हुआ और उसकी जान बच गई। फिलहाल तीनों बच्चों की डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

स्लाइड्स में है कमरे में सोते-सोते लड़को की हो गई मौत.....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×