Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Women Let Lied Down On The Open Floor After Anesthesia

बेहोश कर हॉस्पिटल के मैदान में लेटा दीं नसबंदी के लिए आई लेडीज, हैल्थ मिनिस्टर के शहर में हुआ ये सुलूक

बेहोश कर हॉस्पिटल के मैदान में लेटा दीं नसबंदी के लिए आई लेडीज, हैल्थ मिनिस्टर के शहर में हुआ ये सुलूक

Pushpendra Singh | Last Modified - Nov 14, 2017, 02:22 PM IST

ग्वालियर.मुरैना में फैमिली प्लानिंग के तहत नसबंदी के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल लाई गईं 45 महिलाओं को ऑपरेशन के लिए बेहोश कर कैंपस के गंदगी भरे खुले आंगन में लेटा दिया गया।परिजनों ने इस बदइंतजामी से नाराज होकर हंगामा किया तब सिविल सर्जन ने आननफानन महिलाओं को वार्ड में शिफ्ट कराया। यहां भी परिजन अपनी रिश्तेदारों को सर्दी से बचाने के लिए चादरें हासिल करने के लिए दौड़ लगाते रहे। मामले की शिकायत राज्य महिला आयोग को की गई है। ये है मामला.....


- सर्दी शुरू होते ही हैल्थ डिपार्टमेंट के फैमिली-प्लानिंग सर्जरी कैंप्स की शुरुआत हो चुकी है। इसी सिलसिले में सोमवार को मुरैना के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में सर्जरी के लिए रजिस्टर्ड 45 महिलाओं को लाया गया था। सर्जरी से पहले इन्हें बारी-बारी से एनेस्थीसिया देकर बेहोश किया गया, और कैंपस के खुले आंगन में गंदगी के बीच लेटा दिया गया। नसबंदी कराने आईं महिलाओं को लेटने के लिए फर्श पर न गद्दे बिछाए गए, और न ही सर्दी से बचाने के लिए कंबल दिए गए।
- बेसुध और अस्तव्यस्त कपड़ों में फर्श पर पड़ी परिजन की हालत देख अटेंडेंट्स खुद उन्हें ओढ़ाने के लिए खुद शॉल व चादर का इंतजाम करने में जुटे। इस बदइंतजामी पर परिजन ने आपत्ति जताते हुए हंगामा किया तब सिविल सर्जन डॉ. अनिल कुमार सक्सेना ने पुरुष सिक्योरिटी गार्ड्स और वार्ड बॉय से इन महिलाओं को उठवाकर वार्ड में शिफ्ट कराया।

घंटे भर गंदे फर्श पर पड़ी रही सर्जरी के लिए लाई लेडीज

- मुरैना के घुरघान गांव से आए प्रमोद दीक्षित ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि पत्नी पूनम को जिला अस्पताल में नसबंदी ऑपरेशन के लिए लाया है। प्रमोद के मुताबिक पूनम समेत सभी महिलाएं एक घंटे से ज्यादा देर बेहोश हालत में खुले मैदान में गंदगी के बीच पड़ी रहीं। वीरमपुरा गांव से अपनी पत्नी भूरी को नसबंदी के लिए लाए दिनेश शर्मा ने आपत्ति जताई कि ऑपरेशन से पहले व बाद में स्टरलाइज स्थान पर लेटाया जाना चाहिए था, जबकि उन्हें खुले में लेटा दिया गया, यहां तक कि महिलाओं ने कंबल तक नहीं दिया।

महिला आयोग से शिकायत
- मंगलवार को मामले की शिकायत एक NGO ने राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष लता वानखेड़े से कर दी है। संस्था की जिला संयोजिका सीमा दोनेरिया ने इसके लिए दोषी अधिकारी-कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कराने की मांग की है।

- मुरैना कलेक्टर भास्कर लाक्षकार ने मामले को दुखद बताते हुए मंगलवार को सिविल सर्जन को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।

स्लाइड्स में है सर्जरी के लिए एनेस्थीसिया देने के बाद फर्श पर लेटाई गई बेसुध महिलाएं.....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×