Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Controversy In Jailer And Deputy Jailer Over Prisoners

कैदियों के झगड़े में जेलर व डिप्टी जेलर आपस में भिड़े; ​मारपीट की नौबत आने पर प्रहरियों ने अलग किया

मामले की शिकायत भोपाल पहुंची, हो सकती है कार्रवाई

Bhaskar News | Last Modified - Aug 13, 2018, 03:48 AM IST

कैदियों के झगड़े में जेलर व डिप्टी जेलर आपस में भिड़े; ​मारपीट की नौबत आने पर प्रहरियों ने अलग किया

ग्वालियर.केन्द्रीय जेल ग्वालियर में रविवार को दो कैदी झगड़ पड़े। इनमें जमकर मारपीट हुई। एक कैदी जेलर के कार्यालय में काम करता था और दूसरा डिप्टी जेलर के कार्यालय में। मारपीट के बाद जेलर और डिप्टी जेलर अपने-अपने यहां काम करने वाले कैदी का पक्ष लेने लगे। इस पर दोनों में जमकर मुंहवाद हुआ। नौबत मारपीट तक पहुंच गई तो वहां मौजूद जेल प्रहरियों ने हस्तक्षेप किया। शाम को इसकी शिकायत भोपाल पहुंच गई। एडीजी जेल गाजीराम मीणा मामले की जांच करवा रहे हैं।


जेलर योगेन्द्र तिवारी के कार्यालय में आजीवन कारावास की सजा काट रहा कैदी जीतू शर्मा काम करता है। जीतू उनका कनविक्ट ऑफिसर है। वहीं स्टोर निर्वाह शाखा प्रभारी और डिप्टी जेलर अश्विनी शुक्ला के कार्यालय में कैदी प्रदीप कुशवाह काम करता है। प्रदीप भी हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। डिप्टी जेलर ने स्टोर का पूरा कार्य प्रदीप को सौंप रखा है। रविवार दोपहर में जीतू स्टेशनरी संबंधी सामान लेने के लिए प्रदीप के पास पहुंचा। प्रदीप ने जेलर का लिखा पत्र लाने को कहा और डिप्टी जेलर से अनुमति लेने को कहा। इस पर जीतू भड़क गया। दोनों के बीच मुंहवाद हुआ और मारपीट हो गई। मारपीट की जानकारी डिप्टी जेलर को मिली तो वह पहुंचे और उन्होंने प्रदीप को फटकार लगाई। इसी बीच जेलर वहां पहुंच गए। दोनों अधिकारियों में विवाद हुआ। इस बीच प्रहरियों ने हस्तक्षेप किया और सूचना जेल अधीक्षक तक पहुंचाई।
चार दिन में दूसरी बार झगड़ा: जेल में चार दिन में झगड़े की यह दूसरी घटना है। इससे पहले प्रहरी पवन शर्मा और अन्य प्रहरियों के बीच झगड़ा हुआ था। जेल अधीक्षक बोले,मुझे पता ही नहीं: इस मामले में जेल अधीक्षक मनोज साहू का कहना था कि वह बाहर गए थे। उन्हें इस घटनाक्रम की जानकारी ही नहीं है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×