Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Couple Skeleton Found In 200 Feet Deep Ditch

200 फीट गहरी खाई में मिले कपल के कंकाल, पत्थरों के नीचे दबी थी दोनों की हडि्डयां

महू(एमपी)। तीन साल पहले कजलीगढ़ में हुई दिल दहला देने वाली घटना के बाद एक और मामले का खुलासा हुआ है। करीब छह महीने पहले

Bhaskar News | Last Modified - May 02, 2018, 11:30 AM IST

  • 200 फीट गहरी खाई में मिले कपल के कंकाल, पत्थरों के नीचे दबी थी दोनों की हडि्डयां
    +3और स्लाइड देखें
    मृतका श्रेया जोशी और हिमांशु सेन।

    महू(एमपी)।तीन साल पहले कजलीगढ़ में हुई दिल दहला देने वाली सिलसिलेवार घटनाओं जैसी एक और वारदात सामने आई है। मंगलवार को मेहंदीकुंड व नकोड़ी कुंडी के बीच स्थित करीब 200 फीट गहरी खाई में बड़े-बड़े पत्थरों के बीच युवक व युवती के शव (कंकाल) दबे मिले। दोनों करीब छह महीने से लापता थे। युवती की अंगूठी, चप्पल और युवक के जूतों से उनकी शिनाख्त हो पाई।


    पुलिस ने बलराम मकवाना (20) निवासी बसी पीपरी, अजय बारिया (16) निवासी बसी पीपरी, केशव बारिया (17) निवासी रूंडा को गिरफ्तार किया है, जबकि मास्टमाइंड ईश्वर भील (25) निवासी कोदरिया फरार है। पुलिस के मुताबिक चारों ने लूटने के बाद उन्हें खाई में फेंक दिया था। हालांकि युवती से दुष्कर्म की आशंका भी जताई जा रही है। घटना 6 नवंबर 2017 की है। हिमांशु पिता मुकेश सेन (19) निवासी धार नाका व श्रेया पिता मनोज जोशी (19) निवासी कोदरिया मेहंदीकुंड घूमने गए थे।

    इसी बीच चारों आरोपी इन्हें मिले। ये लोग रास्ता बताने के बहाने दोनों को अपने साथ बड़िया के जंगल में नकोड़ी कुंड के पास गहरी खाई वाले स्थान पर ले गए। वहां डरा-धमकाकर इनके पास से 5200 रुपए नकद, युवती का आधार कार्ड, सोने की चेन, एटीएम व युवक की चेकबुक छीन ली। युवती ने ईश्वर को पहचान लिया था, जिसके चलते आरोपियों ने दोनों के कपड़े उतरवाए और खाई में धकेल दिया। बाद में मौत को सुनिश्चित करने के लिए खाई में उतरे और पत्थरों से उनके सिर कुचलकर शवों को बड़े-बड़े पत्थरों से ढंककर फरार हो गए।

    ऐसे हत्याकांड का सूत्र लगा हाथ

    चार महीने पहले चार बोरी चना चोरी हुआ था। इसके आरोप में पुलिस ने सतपाल निनामा को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। युवक-युवती की हत्या में शामिल आरोपी बलराम को भी इसी मामले में जेल भेजा गया। यहां दोनों के बीच चोरी के मामले में फंसाने की बात को लेकर विवाद हुआ। दोनों ने एक-दूसरे की पोल खोलना शुरू कर दी और मुखबिर के आधार पर जानकारी पुलिस तक पहुंची। तब हिमांशु व श्रेया की हत्या का सूत्र हाथ लगा।


    कजलीगढ़ में प्रेमी जोड़ों को लूटते थे बदमाश, दुष्कर्म भी करते थे

    भास्कर ने तीन साल पहले कजलीगढ़ का दिल दहलाने वाला खुलासा किया था। यहां सेंडल-मेंडल गांव के बदमाश पिकनिक मनाने आने वाले प्रेमी जोड़ों को लूटते थे। वे युवती और महिलाओं से ज्यादती भी करते थे। पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश भी की, लेकिन भास्कर ने मेहंदीकुंड, पातालपानी, चोरल आदि पिकनिक स्पॉट पर बदमाशों की सक्रियता और पुलिस की लापरवाही उजागर की थी।

  • 200 फीट गहरी खाई में मिले कपल के कंकाल, पत्थरों के नीचे दबी थी दोनों की हडि्डयां
    +3और स्लाइड देखें
    दोनों के कंकाल को बोरे में भरकर लाया गया।
  • 200 फीट गहरी खाई में मिले कपल के कंकाल, पत्थरों के नीचे दबी थी दोनों की हडि्डयां
    +3और स्लाइड देखें
    पत्थर के नीचे दबे थे कंकाल।
  • 200 फीट गहरी खाई में मिले कपल के कंकाल, पत्थरों के नीचे दबी थी दोनों की हडि्डयां
    +3और स्लाइड देखें
    बोरे में भरकर लाया गया।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×