शिवपुरी / पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर रची पति की हत्या की साजिश, फिर प्रेमी और उसके दोस्त ने कर दी हत्या



crime
X
crime

  • पहले पति की हत्या हुई, दूसरे की बीमारी से मौत, महिला ने तीसरे पति की प्रेमी के हाथों करा दी हत्या
  • मृतक की पेंट की जेब से मिला पत्नी का फोटो, बच्चा देखकर बोला- यह तो चंपा आंटी हैं

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 02:56 PM IST

शिवपुरी। शहर के गांधी पार्क स्थित मानस भवन में मिली युवक की लाश की शिनाख्ती के बाद शनिवार को एसपी राजेश सिंह चंदेल ने अंधे हत्याकांड का खुलासा कर दिया। युवक की हत्या उसकी पत्नी, पत्नी के प्रेमी और प्रेमी के दोस्त ने मिलकर की थी। पूछताछ में आरोपी पत्नी ने पुलिस को बताया कि पति उसकी मारपीट करता था। जब यह बात उसने अपने प्रेमी को बताई तो उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।


मानस भवन में शुक्रवार की दोपहर मुकेश (32) पुत्र चरणदास जाटव का शव मिला था। मृतक की सिर कुचलकर हत्या की गई थी। पास ही खून से सना पत्थर भी मिला था। हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए सबसे पहले पुलिस ने उसकी पत्नी चंपा बाई जाटव (35) निवासी लाल कॉलेज के सामने गांधी कॉलोनी शिवपुरी से पूछताछ की। पहले ने महिला ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन सख्ती से पूछताछ की तो महिला ने हत्या का राज उगल दिया। 

 

महिला ने बताया कि पति मुकेश उसके साथ मारपीट करता था। यह बात उसने अपने प्रेमी कल्लू उर्फ मुबारक खान उर्फ घोड़ा (21) पुत्र जहूद खान पठान निवासी संजय कॉलोनी शिवपुरी को बता दी। इसके बाद दोनों ने हत्या की साजिश रची। कल्लू गुरुवार की शाम मुकेश जाटव को शराब पिलाने के बहाने मानस भवन में ले आया। बाद में कल्लू ने वहां अपने दोस्त छोटू उर्फ इदरिश (19) पुत्र पूरन रजक निवासी संजय कॉलोनी शिवपुरी को फोन कर बुला लिया। रात के समय दोनों ने मिलकर मुकेश का पत्थर और टाइल्स से सिर कुचल कर मुकेश की हत्या कर दी। 


मानस भवन का पिछला हिस्सा वीरान था, इसलिए रातभर कोई नहीं देख पाया। आवारा जानवर शव को क्षत-विक्षत कर गए। इस मामले में पुलिस ने तीनों आरोपी मृतक की पत्नी चंपाबाई, उसका प्रेमी कल्लू पठान और कल्लू का दोस्त छोटू रजक को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया। पुलिस ने आरोपी महिला को पूछताछ के लिए एक दिन की रिमांड पर लिया है, जबकि दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

 

शुक्रवार को जब मुकेश जाटव का शव मिला तो उसकी पहचान करने के लिए पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी। उसकी जेब से एक महिला का फोटो मिला था। लाश ले जाते समय मौके पर एक 12 साल का बच्चा खड़ा था। उसने महिला का फोटो देखा तो बोला- यह तो चंपा आंटी हैं। इसके बाद उसने पुलिस को बताया कि वह सामने रहती हैं। उसकी मदद से पुलिस चंपा बाई के घर तक पहुंची। घर घटनास्थल से 180 मीटर दूर ही था। घर की तलाशी ली ताे बैंक पासबुक से चंपा बाई जाटव का फोटाे गायब था। यह फोटो मृतक मुकेश ने निकालकर अपनी जेब में डाल लिया था। इसके बाद पुलिस ने सख्ती की तो आरोपी पत्नी ने सच उगल दिया।


महिला का तीसरा पति था मुकेश
मृतक मुकेश जाटव आरोपी चंपा का तीसरा पति था। उसके पहले पति की भी किसी ने हत्या कर दी थी। दूसरे पति की बीमारी से मौत हो गई थी। इसके बाद मुकेश के साथ कोर्ट मैरिज की थी लेकिन चाल-चलन ठीक नहीं रहने से अक्सर दोनों के बीच लड़ाई झगड़ा हाेता रहता था। इसके चलते चंपा बाई ने अपने प्रेमी के साथ साजिश रचकर उसकी हत्या करा दी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना