दतिया / प्रेमी जोड़े को युवती के परिजन ने अगवा किया, पुलिस ने पीछा किया तो थाने में घुसे, पकड़े गए



datia
X
datia

Dainik Bhaskar

Jun 16, 2019, 10:25 AM IST

दतिया। कस्बा बड़ौनी में रहने वाली एक युवती अपने प्रेमी के साथ बुधवार की दोपहर भाग गई। दोनों ने मंदिर में एक दूसरे को जयमाला डाली फिर कोर्ट में जाकर अपनी मर्जी से एक दूसरे के साथ रहने का शपथ पत्र बनवाया। कोर्ट प्रक्रिया पूरी करने के बाद दोनों युगल दांतरे की नरिया में जीजा के यहां जा रहे थे तभी परिवार के लोग बोलेरो लेकर पहुंच गए। फिल्मी स्टाइल में युवती के परिजन ने प्रेमी जोड़े को पटककर बोलेरो में डाला और भाग गए। इधर किसी ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दे दी। एएसपी मनजीत सिंह चावला ने चारों सड़क मार्गों पर नाकेबंदी कराकर पीछा किया तो गुरुवार तड़के तीन बजे बोलेरो सवार पांचों आरोपी बड़ौनी थाने से पकड़े गए। 

 

कस्बा बड़ौनी निवासी जसवंत कुशवाहा का अपनी बचपन की ही मित्र व कस्बे में ही रहने वाली 19 वर्षीय दीक्षा से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बुधवार की दोपहर दोनों भाग गए। पीतांबरा पीठ पर दोनों ने हिंदू रीति रिवाज से शादी कर एक दूसरे को वरमाला डाली। शादी करने के बाद दोनों कोर्ट में पहुंचे और एक साथ रहने का शपथ पत्र बनवाया। कोर्ट प्रक्रिया पूरी होने के बाद दोनों झांसी भाग गए। रात 9 बजे जसवंत अपनी पत्नी दीक्षा को लेकर तलैया मोहल्ले में रहने वाले जीजा के यहां पहुंचा ही था कि दीक्षा के परिजन को भनक लग गई। परिजन बोलेरो क्रमांक एमपी 04 सीडब्ल्यू 1969 लेकर तलैया मोहल्ला पहुंचे और जसवंत व दीक्षा को पकड़कर बोलेरो में डाल लिया। इसके बाद युवती के परिजन जसवंत व लड़की को रावतपुरा कॉलेज के पीछे लेकर पहुंचे। यहां जसवंत की युवती के परिजन ने बुरी तरह पिटाई की। साथ ही गला दबाकर मारने का भी प्रयास किया। जसवंत ने पुलिस को बताया कि दीक्षा के भाई संतोष राजपूत, दीक्षा के चाचा कमल किशोर राजपूत, अरविंद राजपूत, वीर सिंह राजपूत, व संतोष के दोस्त हरगोविंद कुशवाहा ने उनका अपहरण किया था।
 
10 किमी दूर बड़ौनी थाने में पकड़े गए आरोपी 
जिस वक्त प्रेमी जोड़े का अपहरण हुआ उस वक्त मोहल्ले में दुकानें भी खुली थीं, लोगों की आवाजाही भी बहुत थी। अपहरण की घटना आग की तरह फैल गई और किसी ने पुलिस कंट्रोल रूम में अपहरण की सूचना दे दी। जानकारी मिलते ही एएसपी चावला ने कोतवाली टीआई शेर सिंह, चिरूला थाना प्रभारी दिनेश सिंह, बड़ौनी में वैभव गुप्ता के अलावा सिविल लाइन सहित सभी थानों की पुलिस को तत्काल चेकिंग लगाने के लिए कहा। पुलिस की गाड़ियों के सायरन की आवाज सुनकर आरोपियों ने रावतपुरा कॉलेज से गाड़ी घुमाकर ग्वालियर की तरफ मोड़ दी, गोराघाट में पकड़े जाने के डर से आरोपियों ने युवती को अपने परिचित रिश्तेदार के घर में उतार दिया। जैसे ही आरोपी हाईवे पर पहुंचे तो पुलिस ने बोलेरो को पहचानते हुए पीछे गाड़ियां लगा दीं, यह देख आरोपी बड़ौनी की तरफ भागे और कस्बा बड़ौनी में थाने के अंदर घुस गए। यहां पुलिस ने बोलेरो सवार युवती के भाई संतोष, चाचा कमलकिशोर, अरविंद राजपूत, वीर सिंह और दोस्त हरगोविंद कुशवाहा को गिरफ्तार किया। पीछे से रिश्तेदार दीक्षा को लेकर बड़ौनी थाने पहुंच गए। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना