दतिया / बदमाश ने स्कूल में शिक्षकों को पीटा, कट्‌टा ताना, बच्चों ने कमरे में छिपकर बचाई जान



datia
X
datia

  • लूट के मामले में छह महीने से जेल में था आरोपी, एक माह पहले ही छूटकर आया है 

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2019, 12:39 PM IST

दतिया। उनाव सर्किल के सरकारी स्कूलों के शिक्षक दहशत में हैं। इस क्षेत्र में 20 दिन में 10 किमी के दायरे में दो स्कूलों में शिक्षकों को पीटने की घटनाएं हो चुकी हैं। शनिवार को गुजर्रा गांव के प्राइमरी विद्यालय में गांव के ही एक बदमाश ने शराब के नशे में शिक्षकों को पीट दिया और कट्‌टा तक तान दिया। चंद सेकंड में स्कूल के अंदर शिक्षकों और बच्चों के बीच अफरा तफरी का माहौल बन गया। 


बच्चे और शिक्षक जान बचाकर स्कूल के कक्षों में छिप गए। शोर शराबा सुनकर बदमाश के परिजन आए और वे उसे अपने साथ ले गए लेकिन कुछ देर बाद वह पुन: लाठी लेकर आ गया और गेट बंद होने पर बाहर से ही गाली गलौज करता रहा और पत्थर फेंकता रहा। इसके बाद पुन: परिवार के लोग उसे अपने साथ ले गए और कमरे में बंद कर दिया। उसके जाते ही शिक्षकों ने स्कूल पर ताला लगा दिया और भयभीत होकर उनाव थाने की शरण ली। घटना शनिवार की सुबह 11.40 बजे की है। उनाव पुलिस ने आरोपी के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा, मारपीट व अन्य धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया है। 


ग्राम गुजर्रा के प्राइमरी स्कूल में पदस्थ सहायक शिक्षक ने बताया कि रोज की तरह शनिवार को वे और उनके साथी शिक्षक-शिक्षिका बच्चों को पढ़ा रहे थे। सुबह 11.40 बजे गांव में ही रहने वाला रिंकू पुत्र बल्लू गुर्जर कट्‌टा लेकर शराब के नशे में स्कूल के अंदर घुस आया। वह सीधे स्कूल प्रांगण में लगे पेड़ के नीचे पढ़ा रहे शिक्षक श्रीराम मांझी के पास पहुंचा और कुर्सी छीनकर उस पर बैठ गया। स्कूल में आते ही उसने गाली गलौज शुरू कर दी और कहा कि सभी मास्टर यहां आओ। शिक्षक मांझी ने उसे रोकना चाहा तो आरोपी ने उन्हें चांटा जड़ दिया और छाती पर कट्‌टा तान दिया इससे घबराकर वे कमरे में जाकर छिप गए। यह देख सहायक शिक्षक ताराचंद तिवारी ने बीच बचाव कराने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माना। 

 

प्रभारी हेडमास्टर नारायणदास उनया के साथ भी अभद्रता कर दी। कक्ष के अंदर बैठकर पढ़ा रहीं शिक्षिका अरुणा त्रिपाठी बचाओ बचाओ चिल्लाते हुए कमरे के अंदर जाकर छिप गई और बच्चे भी जहां जगह मिली वहां जाकर छिप गए। 15 मिनट तक स्कूल में दहशत का माहौल रहा। तब पास के प्रांगण में संचालित हाईस्कूल और मिडिल स्कूल के प्रभारी राजेंद्र सिंह गुर्जर वहां पहुंचे और उन्होंने भगाया। पीछे से आरोपी के परिजन आ गए और उसे अपने साथ ले गए। लेकिन वह कुछ देर बाद फिर आ गया और गेट के बाहर लाठी लेकर गाली गलौज करता रहा और स्कूल में पत्थर फेंकता रहा। सहायक शिक्षक ने बताया कि आरोपी रिंकू गुर्जर लूट के मामले में छह महीने तक जेल में बंद रहा और एक महीने पहले ही जेल से छूटकर आया है। 

 

25 दिन पहले सेरसा में भी पिट चुके हैं शिक्षक 
उनाव थाना क्षेत्र के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के साथ अभद्रता, मारपीट की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। 22 जुलाई को ग्राम सेरसा के प्राइमरी स्कूल में पदस्थ सहायक शिक्षक कौशल किशोर (35) पुत्र ओमप्रकाश पाठक के साथ गांव के ही नरेंद्र उर्फ लालू गुर्जर ने शराब के नशे में लाठी डंडे से मारपीट कर दी थी। मामले की रिपोर्ट उनाव थाना में दर्ज हुई। पुलिस ने आरोपी भी पकड़ा और जेल चला गया। 20 दिन बाद पुन: इसी तरह की घटना हुई। हैरानी की बात कि लगातार हो रही घटनाओं पर पुलिस विभाग ने स्कूलों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर किसी तरह के कारगर कदम नहीं उठाए। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना