• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • Death in the treatment of constable injured during Ganpati attack
--Advertisement--

भिंड / थाने के अंदर गैंती के हमले से घायल हवलदार की मौत; सरकार देगी शहीद का दर्जा, एक करोड़ रुपए की मदद भी



  • ऊमरी थाने के अंदर एक आरोपी ने पुलिसकर्मियों पर गैंती से हमला कर दिया था 
Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 03:17 PM IST

भिंड। भिंड के ऊमरी थाने में दो पुलिसकर्मियों पर हुए हमले में घायल एक हवलदार की बुधवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। हवलदार उमेश बाबू का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हवलदार को शहीद का दर्जा देने के साथ ही परिजनों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। 

 

शराब पीकर हंगामा करने के मामले में थाने लाए गए एक आरोपी विष्णु राजावत ने थाने में ही रखी गैंती से हवलदार उमेश बाबू और उनके एक सहयोगी पुलिस कर्मी पर जानलेवा हमला किया था। अचानक हमले से आरोपी ने हवलदार उमेश बाबू के सिर पर गैंती मारी, जिससे वह कुर्सी पर बैठे-बैठे ही निढाल हो गए। उन्हें सिर में गंभीर चोट आई थी, जिसके बाद उन्हें पहले ग्वालियर और फिर दिल्ली रेफर किया गया। 

 

दरअसल, ऊमरी थाना पुलिस ने रविवार को बाजार में उत्पात मचा रहे विष्णु सिंह राजावत निवासी रौन को पकड़ा था। विष्णु ने रविवार रात करीब 8 बजे हवलदार उमेश बाबू (50) के सिर में गेती मारी थी जबकि एक अन्य सिपाही गजराज सिंह (35) को भी गेती मारकर घायल किया था। पुलिस ने इस मामले में विष्णु पर जानलेवा हमले की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया था, लेकिन अब हवलदार की मौत के बाद विष्णु के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है।

 

--Advertisement--