Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» Election Fund

चुनाव के लिए 46 करोड़ चंदा लेने घर-घर जाएंगे भाजपा नेता, मुख्यमंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री भी काटेंगे पर्ची

230 विधानसभा क्षेत्रों से 46 करोड़ रुपए पार्टी फंड जुटाने का अभियान सोमवार से शुरू करने जा रही है

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 12, 2018, 12:41 PM IST

चुनाव के लिए 46 करोड़ चंदा लेने घर-घर जाएंगे भाजपा नेता, मुख्यमंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री भी काटेंगे पर्ची

ग्वालियर।भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा क्षेत्रों से 46 करोड़ रुपए पार्टी फंड जुटाने का अभियान सोमवार से शुरू करने जा रही है। हर विधानसभा क्षेत्र से 20 लाख रुपए का चंदा कूपन बेचकर जमा किया जाएगा। चुनाव से पहले रूठे कार्यकर्ताओं को मनाने और पार्टी के लिए फंड जुटाने की कवायद में लगी भाजपा दो चुनाव बाद ये मुहिम चलाने जा रही है।


इससे पहले शिवराज सिंह के नेतृत्व में हुए चुनाव में इस तरह से हर विधानसभा क्षेत्र में इस तरह की मुहिम नहीं चली थी। पार्टी का मकसद जमीनी कार्यकर्ताओं को इस मुहिम से जोड़ना है। पार्टी इसके लिए 500, 1000 और दो हजार के कूपने बेचेगी। इस अभियान में मुख्यमंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री आम लोगों से चंदा लेकर लोगों को कूपन की पर्टी देंगे।

भाजपा ने इस अभियान का नाम अर्थ संग्रह रखा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह समेत सभी मंत्री एवं प्रमुख पदाधिकारी इस अभियान में जुटेंगे। इस समिति के प्रदेश संयोजक कृष्णमुरारी मोघे ने चंदा वसूली को लेकर कार्यक्रम जारी कर दिया है। इसके लिए प्रदेश भर में एक साथ अभियान शुरू किया जा रहा है। सोमवार से सभी 56 संगठनात्मक जिलों में शुरू होगा। पांच सौ, 1 हजार और 2 हजार रूपए का अंशदान स्वीकार किया जाएगा।


हर विधानसभा से 20 लाख का लक्ष्य

चुनावी चंदा वसूली (अर्थ संग्रह) के जरिए भाजपा ने हर विधानसभा से 20 लाख रुपए का चंदा वसूलने का लक्ष्य तय किया है। यह राशि आगामी विधानसभा चुनाव में खर्च की जाएगी। प्रदेश भाजपा के अुनसार अर्थ संग्रह के लिए यह न्यूनतम लक्ष्य है। जिस विधानसभा से जितनी राशि संग्रहित होगी, उसे उसी विधानसभा क्षेत्र में खर्च किया जाएगा। हर विधानसभा से 20 लाख का संग्रह करके भाजपा सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों में 46 करोड़ का चंदा वसूल कर लेगी।

ये नेता जाएंगे चंदा मांगने

मोघे ने बताया कि प्रदेश नेतृत्व ने जिलों में दो-दो प्रतिनिधियों की ड्यूटी लगाई है। ये प्रतिनिधि 12 अगस्त तक जिलों में पहुंचेंगे। अर्थसंग्रह के दो प्रतिनिधियों में केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत, मंत्री पारस जैन, केन्द्रीय मंत्री वीरेन्द्र खटीक, मंत्री ललिता यादव, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, कैलाश विजयवर्गीय, नंदकुमार सिंह चौहान, मंत्री अंतरसिंह आर्य, सत्यनारायण जटिया, अनूप मिश्रा सांसद, मंत्री माया सिंह, मंत्री रूस्तम सिंह, मंत्री जयभानसिंह पवैया, मंत्री नरोत्तम मिश्रा, मंत्री लालसिंह आर्य, मंत्री जयंत मलैया, मंत्री भूपेन्द्र सिंह, मंत्री गोपाल भार्गव, सांसद प्रहलाद पटेल, मंत्री कुसुम मेहदेले, मंत्री राजेन्द्र शुक्ल,मंत्री शरद जैन, मंत्री गौरीशंकर बिसेन, जालम सिंह पटेल, लता एलकर, उमाशंकर गुप्ता, डॉ. हितेष वाजपेयी, रामपाल सिंह, विजेन्द्रसिंह सिसोदिया, बाबूलाल गौर, अर्चना चिटनीस, विजय शाह समेत एक सैंकड़ा से ज्यादा प्रदेश प्रतिनिधि मनोनीत किए गए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×