ग्वालियर / कमलनाथ की नाराजगी के बाद नाथूराम गोड़से को महिमामंडित करने के आरोपी पर एफआईआर



ग्वालियर में बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा की पूजा की गई और बलिदान दिवस मनाया गया। ग्वालियर में बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा की पूजा की गई और बलिदान दिवस मनाया गया।
X
ग्वालियर में बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा की पूजा की गई और बलिदान दिवस मनाया गया।ग्वालियर में बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा की पूजा की गई और बलिदान दिवस मनाया गया।

  • पुलिस ने जन भावनाओं को भड़काने के आरोप में की कार्रवाई, आरोपी की तलाश शुरू 
  • सीएम कमलनाथ ने जताई थी कड़ी नाराजगी, कहा था- इसे बर्दाश्त नहीं करूंगा 

Dainik Bhaskar

Nov 16, 2019, 08:28 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को महिमामंडित करने वाले कार्यक्रम पर मुख्यमंत्री कमलनाथ की नाराजगी के बाद शनिवार को ग्वालियर पुलिस ने एक व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली और आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

 

पुलिस के मुताबिक, कांग्रेस के एक स्थानीय नेता रविंद्र सिंह चौहान की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने जिला युवा हिन्दू महासभा के नरेश बाथम के खिलाफ भावनाओं को भड़काने की धाराओं के प्रकरण दर्ज किया गया है। पुलिस ने मामले की गंभीरता के मद्देनजर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है, लेकिन शनिवार को शाम तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

 

शहर के दौलतगंज क्षेत्र में कल कुछ लोगों द्वारा नाथूराम गोडसे की कथित तौर पर पूजा करने का मामला सामने आया है। मीडिया में उछलने के बाद इस मामले पर राज्य सरकार और खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ तत्काल सक्रियता दिखाई। ग्वालियर पुलिस को मामले में तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे। राज्य सरकार ने यह भी कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में इस तरह की घटनाओं को नहीं होने दिया जाएगा।

 

सीएम कमलनाथ ने जताई नाराजगी 
मुख्यमंत्री कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बयान जारी कर कहा है कि ग्वालियर में बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लेकर बलिदान दिवस मनाने पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने पुलिस प्रशासन को कार्यक्रम करने वालों पर कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिये थे। उन्होंने कहा था कि मेरी सरकार में गांधी जी के हत्यारे को पूजा जाए। ये मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता। पहले ग्वालियर में ही कुछ लोगों द्वारा भाजपा सरकार में गोडसे की मूर्ति लगाने के प्रयास भी हुए थे लेकिन मेरी सरकार में कोई ऐसा कृत्य करेगा तो मैं उसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करूंगा। राष्ट्रपिता को लेकर, बलिदान दिवस मनाने वालों ने अपने पर्चे में काफ़ी आपत्तिजनक बातें भी लिखी थी। 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना