मप्र / देवरीकलां में अग्नि मेला... मन्नत पूरी होने पर अंगारों पर चलकर निकले श्रद्धालु

X

  • मंदिर में छिद्र से साल में एक बार सूर्य की किरणें शिवलिंग पर पड़ती हैं

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 01:09 PM IST

देवरीकलां (सागर). देव श्री खण्डेराव का 10 दिवसीय अग्नि मेला साेमवार चंपा छठ से शुरू हाे गया। कई श्रद्धालु अंगारों पर चलकर निकले। मान्यता है कि मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु अंगारों पर से निकलते हैं। 15 वीं से 16 वीं सदी के बीच यहां निर्मित देव श्री खण्डेराव का प्राचीन मंदिर वास्तु कला की एक अद्भुत मिसाल है। मंदिर में एक विशेष छिद्र है, जिसमें साल में एक बार अगहन की छठ के दिन सूर्य की किरणें उस छिद्र के माध्यम से शिवलिंग के पांच पिंडों पर ठीक 12 बजे पड़ती हैं, तब लोग अग्निकुंड में से निकलते हैं।

राजा का पुत्र स्वस्थ हो गया था
बताया जाता है कि एक बार राजा यशवंतराव का पुत्र बीमार हो गया था। तब देव खण्डेराव ने दर्शन देकर कहा कि अंगारों से हल्दी छोड़कर निकले तो उनका पुत्र स्वस्थ हो जाएगा। राजा ने ऐसा ही किया तो पुत्र स्वस्थ हो गया। तब से यह प्रथा शुरू है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना