ध्वनि-वायु प्रदूषण रोकने के लिए शताब्दी गतिमान ट्रेन से हटेंगे जनरेटर वाले कोच / ध्वनि-वायु प्रदूषण रोकने के लिए शताब्दी गतिमान ट्रेन से हटेंगे जनरेटर वाले कोच

उत्तर मध्य रेलवे ने प्रयागराज और कानपुर शताब्दी एक्सप्रेस में किया सफल प्रयोग

Jun 04, 2018, 07:11 AM IST

ग्वालियर. जल्द ही शताब्दी एक्सप्रेस और राजधानी जैसी ट्रेनों में लगे पावर कोच (जनरेटर युक्त) नजर नहीं आएंगे। रेलवे ने ध्वनि और वायु प्रदूषण रोकने के लिए डीजल से चलने वाले जनरेटरों की जगह होटल लोड कन्वर्टर लगाने की शुरुआत कर दी है। यह प्रणाली रेलवे की ओएचई (बिजली) से संचालित होगी। उत्तर मध्य रेलवे ने प्रयागराज एक्सप्रेस और कानपुर शताब्दी में उक्त सिस्टम से ट्रेनें चलाना शुरू कर दी हैं। ग्वालियर से गुजरने वाली शताब्दी, गतिमान व राजधानी एक्सप्रेस भी जल्द ही नए सिस्टम से चलना शुरू हो जाएंगी।

- एलएचवी कोचों से चलने वाली ट्रेनों में बिजली की सप्लाई के लिए जनरेटर वाले दो कोच लगे होते हैं। एक कोच इंजन के पीछे और दूसरा गार्ड का कोच होता है। जब ये ट्रेनें प्लेटफार्म पर आती हैं, उस वक्त कानफोड़ू ध्वनि प्रदूषण होता है। यही नहीं डीजल से चलने के कारण वायु प्रदूषण भी होता है। रेलवे ने इन कोचों से जनरेटर हटाने के लिए उक्त सिस्टम पर काम करना शुरू कर दिया है।

बिजली से चलने वाले इंजन में ऐसे काम करेगी नई तकनीक
- राजधानी, शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में दो पावर कार लगी रहती हैं। उनमें लगे जनरेटर से ट्रेन को सभी कोचों में बिजली सप्लाई की जाती हैं, जिससे लाइट, एसी और पंखे चलते हैं। नई तकनीक बिजली चलित इंजन में उपयोग की जाएगी। इसमें एक ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा, जो ओएचई के लोड को कम करेगा। यहां से बिजली सप्लाई सभी कोचों में पहुंचाई जाएगी। उससे एसी सिस्टम, पंखे और लाइट जलेंगी।


पावर कार हटाई जाएंगी
रेलवे होटल लोड कन्वर्टर सिस्टम पर काम कर रही है। उत्तर रेलवे से चलने वाली भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस सहित दूसरी ट्रेनों में पावर कार हटाई जाएंगी। यह काम ध्वनि और वायु प्रदूषण को ध्यान में रखकर हो रहा है।
नीतिश चौधरी, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी उत्तर रेलवे नई दिल्ली

दो ट्रेनों में सिस्टम लगाया
उत्तर मध्य रेलवे ने प्रयागराज एक्सप्रेस और कानपुर से चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस में होटल लोड कन्वर्टर सिस्टम लगा दिया है। अब कोचों में बिजली की सप्लाई जनरेटर से नहीं ओएचई से ली जा रही है।
- अमित मालवीय, पीआरओ इलाहाबाद उत्तर मध्य रेलवे

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना