--Advertisement--

शादी के स्टेज पर टॉयलेट का मॉडल रखा, मेहमान पहले मुस्कराए फिर खिंचवाए फोटो

शादी के स्टेज पर टॉयलेट का मॉडल रखा देखा तो मेहमान पहले उत्सुकता से उसे देखते रहे फिर मुस्कराए।

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 07:48 AM IST
बेहतर प्रयास है, इससे लोगों को बेहतर प्रयास है, इससे लोगों को

रतलाम(एमपी)। पल्दुना गांव में शादी के स्टेज पर टॉयलेट का मॉडल रखा देखा तो मेहमान पहले उत्सुकता से उसे देखते रहे फिर मुस्कराए और बाद में दूल्हा-दुल्हन के साथ ही नहीं टॉयलेट के साथ भी फोटो खिंचवाए। मुख्यमंत्री नेतृत्व पाठ्यक्रम के छात्र जगदीश धाकड़ की वहीं की पूजा से शनिवार रात शादी हुई। गांव के नई आबादी रोड पर स्टेज सजा। स्टेज पर 5 फीट ऊंचा टॉयलेट का मॉडल रखा गया। स्टेज पर टॉयलेट का मॉडल और उस पर 'जहां शौच, वहां शौचालय' लिखा देख मेहमानों की पहले तो हंसी फूट पड़ी, फिर स्वच्छता का संदेश देने का मकसद समझ में आया तो धाकड़ परिवार की तारीफ की। धाकड़ ने बताया उन्हें इस काम की प्रेरणा जन अभियान परिषद के सदस्यों से मिली।


शादी में यह संदेश भी दिए गए
एक पंगत-एक संगत : शादी में बफर का आयोजन नहीं करते हुए पंगत पर भोजन करायाा। इससे यह संदेश देने का प्रयास किया कि हर जाति, धर्म के लोक मिल-बैठकर भोजन करें।

नो प्लास्टिक : प्लास्टिक के ग्लास का उपयोग नहीं किया गया। पानी के लिए लोटे की व्यवस्था की गई ताकि लोगों तक प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की बात पहुंच सके।

सामाजिक समरसता : सामाजिक समरसता का संदेश देने के लिए इससे जुड़े संदेश लिखी तख्तियां विवाह मंडप में लगाई गईं।
उतना ही लें थाली में व्यर्थ न जाए नाली में : विवाह मंडप में भोजन का अपव्यय रोकने के लिए उतना ही लें थाली में व्यर्थ न जाए नाली में लिखे फ्लेक्स भी लगाए गए।
दान का महत्व बताया : माता-पूजन के कार्यक्रम में बैंड नहीं बजवाते हुए बचे 5 हजार रुपए सेवा भारती में अध्ययनरत आदिवासी छात्रों की शिक्षा के लिए भेंट किए।

बेहतर प्रयास है, इससे लोगों को प्रेरणा मिलेगी
- जन अभियान परिषद के जिला कोऑर्डिनेटर रत्नेश विजयवर्गीय ने बताया धाकड़ ने बेहतर प्रयास किया है। जिपं अध्यक्ष परमेश मईड़ा ने कहा शादी में आए लोग स्वच्छता का संदेश लेकर गए।

- जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष अशोक चौटाला ने कहा धाकड़ ने बता दिया कि शादी समारोह को भी सामाजिक संदेश का जरिया बनाया जा सकता है।