ग्वालियर / बरौनी मेल 20 फरवरी से भिंड, इटावा होकर कानपुर जाएगी और इसी रूट से आएगी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 11:56 AM IST



gwalior train root divert
X
gwalior train root divert

ग्वालियर। झांसी मंडल के परौना-भुआ रेलखंड पर दोहरीकरण से संबंधित नॉन-इंटरलॉकिंग कार्य के चलते झांसी-कानपुर के बीच चलने वाली 13 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। 14 ट्रेनों के मार्ग परिवर्तित किए हैं। ये ट्रेनें झांसी से कानपुर जाने की बजाय ग्वालियर, इटावा होते हुए कानपुर चलाई जाएंगी। ग्वालियर से चलने वाली ग्वालियर-बरौनी मेल 20 फरवरी से 1 मार्च तक ग्वालियर-झांसी होते हुए कानपुर जाने की बजाय भिंड, इटावा, कानपुर होते हुए बरौनी जाएगी और इसी रूट से 19 से 28 फरवरी तक ग्वालियर आएगी। 


ये ट्रेनें की गईं डायवर्ट 

 

  • लोकमान्य तिलक- प्रतापगढ़ एक्सप्रेस 19 फरवरी, 24 फरवरी और 26 फरवरी को झांसी-कानपुर होते हुए चलने की बजाय झांसी, ग्वालियर, भिंड, इटावा, कानपुर होते हुए प्रतापगढ़ जाएगी। 
  • इसी तरह प्रतापगढ़- लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस 21 फरवरी, 26 फरवरी और 28 फरवरी को कानपुर-झांसी होकर गुजरने की बजाय कानपुर, इटावा, भिंड, ग्वालियर होते हुए झांसी पहुंचेगी। 
  • लोकमान्य तिलक-सुल्तानपुर एक्सप्रेस 24 फरवरी को झांसी, ग्वालियर-इटावा,कानपुर होते हुए चलेगी। इसी तरह सुल्तानपुर- लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस कानपुर , इटावा,भिंड ग्वालियर होते हुए 25 फरवरी को झांसी पहुंचेगी। यह ट्रेन झांसी- कानपुर होकर गुजरती है।

 
बरौनी ट्रेन इटावा होकर चले तो बचेंगे ढाई से तीन घंटे : ग्वालियर से कानपुर के लिए अभी कोई सीधी ट्रेन नहीं है। रेलवे ने जब भी बरौनी मेल को भिंड, इटावा होकर चलाया तो यात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। इस ट्रेन को स्थायी ताैर पर यदि ग्वालियर, भिंड, इटावा, कानपुर होते हुए चलाया जाए तो ग्वालियर, भिंड, मुरैना के लोगों को लाभ होगा।

COMMENT