ग्वालियर / प्रदेश में सबसे ठंडा रहा ग्वालियर बर्फीली हवा से 6.80 पर आया पारा

latest weather update gwalior
X
latest weather update gwalior

  • 12 साल में कभी इतना ठंडा नहीं रहा 3 दिसंबर, 5.4 डिग्री लुढ़का रात का पारा
  • मौसम बादल छंटे, धुंध भी हटी इस कारण न्यूनतम तापमान में आई इतनी गिरावट
  • मौसम में आया बदलाव एक साथ 5.4 डिग्री लुढ़का पारा, बढ़ी सर्दी

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 12:04 PM IST

ग्वालियर। बर्फ से ढके पहाड़ों से सीधे बर्फीली हवा आने की वजह से ग्वालियर का न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। साेमवार रात से मौसम में अाए इस अचानक बदलाव से ग्वालियर प्रदेश में सबसे ठंडा रहा। तापमान में एक साथ 5.4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने के कारण ठिठुरन बढ़ गई है। वहीं भाेपाल में न्यूनतम तापमान 15.4, जबलपुर में 16.0 आैर इंदाैर में 17 डिग्री दर्ज किया गया है। अचानक सर्दी बढ़ने से मंगलवार को लोगांे की दिनचर्या भी बदल गई। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में रात के तापमान में अभी और गिरावट आएगी, क्योंकि मौसम साफ है। 

पारे में अभी और आएगी गिरावट
मौसम विज्ञानी एके शुक्ला के अनुसार जम्मू-कश्मीर के ऊपर सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ आगे निकल चुका है। साथ ही पहाड़ों में हुई बर्फबारी का असर है, यहां से टकराकर उत्तरी हवा मैदानी इलाकों में सीधे आ रही हैं। नमी भी कम हुई है। अगले 24 घंटे के दौरान न्यूनतम तापमान में और गिरावट आएगी।

तापमान में आई इतनी गिरावट: दिसंबर के पहले सप्ताह में ठिठुरन पैदा करने वाली सर्दी का दौर शुरू हो चुका है। 12 साल में कभी 3 दिसंबर इतना ठंडा नहीं रहा, जितना मंगलवार को रहा।

इससे पहले 3 दिसंबर 2017 को न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री दर्ज किया गया था। पिछले वर्ष 8 डिग्री से नीचे तापमान 5 दिसंबर के बाद गया था। एक दिन पहले जहां न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री ऊपर चल रहा था, वहीं मंगलवार को एक साथ न्यूनतम तापमान में 5.4 डिग्री की गिरावट आने से सुबह के समय ठंड बढ़ गई। सुबह 5 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से उत्तरी हवा चली। इससे लोगों ने ठिठुरन का अहसास किया। इतना ही नहीं ठंड बढ़ते ही पार्क में टहलने आने वाले लोगाें की संख्या कम रही। कम ही लोग सुबह 7 बजे तक घर से बाहर निकले। वहीं बच्चे स्कूल में ठिठुरते हुए पहुंचे। हालांकि सुबह 9 बजे के बाद लोगांे ने ठंड से थोड़ी राहत महसूस की।

सर्दी बढ़ने का कारण यह
मौसम विज्ञानी एके शुक्ला के अनुसार, इस समय मौसम पूरी तरह से साफ है। बादल भी नहीं हैं। नमी कम होने के कारण धुंध का असर भी कम हो गया है। इस कारण पहाड़ों में हुई बर्फबारी के कारण वहां से सीधे हवा मैदानी इलाकों की तरफ आ रही है। इस कारण न्यूनतम तापमान में एक साथ बड़ी गिरावट आई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना