--Advertisement--

जीवाजी यूनिवर्सिटी / 350 कॉलेजों ने नहीं भरा परीक्षा संचालन शुल्क, रुकेगा 17 हजार छात्रों का रिजल्ट



350 colleges did not complete the operation fee
X
350 colleges did not complete the operation fee

  •  जीवाजी यूनिवर्सिटी से संबद्ध  350 निजी व शासकीय कॉलेजों की लापरवाही
  • परीक्षा नियंत्रक कॉलेजों को दो बार भेज चुके हैं स्मरण पत्र

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2018, 01:17 PM IST

ग्वालियर. जीवाजी यूनिवर्सिटी से संबद्ध अंचल के 350 निजी व शासकीय कॉलेजों और अध्ययनशालओं द्वारा परीक्षा संचालन शुल्क जमा नहीं किया। इसका खामियाजा उनमें पढ़ रहे 17 हजार छात्रों को भुगतना पड़ सकता है। छात्रों के परीक्षा परिणाम रोके जा सकते हैं। यह भी संभव है कि उनके आगामी परीक्षाओं के प्रवेश पत्र जारी नहीं किए जाएं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. राकेश कुशवाह ने संबंधित कॉलेजों को स्मरण पत्र भेजकर उक्त चेतावनी दी है। 


जेयू के परीक्षा भवन में विभिन्न परीक्षाएं दिसंबर 2017 और जून 2018 में कराई थीं। इसके लिए 188 रुपए प्रति छात्र की दर से परीक्षा संचालन राशि जेयू में जमा कराई जाना थी। गत 24 अगस्त को जेयू के परीक्षा नियंत्रक डॉ. कुशवाह ने अंचल के कॉलेजों और जेयू की अध्ययनशालाओं को पत्र जारी कर 8 सितंबर तक परीक्षा संचालन शुल्क जमा कराए जाने के लिए कहा था फिर भी ज्यादातर कॉलेजों ने शुल्क जमा नहीं कराया।

 

इन कॉलेजों पर बकाया है विश्वविद्यालय का 32 लाख : डॉ. कुशवाह ने फिर से पत्र लिखकर कहा है कि शुल्क जमा न कराने वाले कॉलेजों के छात्रों का परीक्षा परिणाम रोका जा सकता है तथा आगामी परीक्षाओं में छात्रों के प्रवेश पत्र भी रोके जा सकते हैं। इसके अलावा संबद्धता समाप्ति की कार्रवाई भी की जा सकती है। जेयू में दो सत्रों में लगभग 17 हजार छात्रों ने परीक्षा भवन में परीक्षा दी थी। इसके एवज में कॉलेजों पर जेयू के करीब 32 लाख रुपए बकाया हैं। 
 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..