जेयू / परीक्षा केंद्रों पर डेटा नहीं पहुंचा परीक्षा भवन में बिजली गई, यूजी प्रथम वर्ष की परीक्षा के दौरान परेशान हुए छात्र

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 12:55 PM IST


ju
X
ju
  • comment

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित प्रथम वर्ष की परीक्षा के दाैरान केंद्राें में अा रहीं समस्याएं दूर नहीं हो रही हैं। शनिवार को आयोजित दूसरे पेपर में भी छात्रों का डेटा परीक्षा केंद्रों पर देरी से पहुंचा। इस वजह से कुछ छात्रों को परीक्षा में देरी से बैठाया गया। जेयू के परीक्षा भवन में परीक्षा शुरू होते ही बिजली चली गई, जेनरेटर से कनेक्शन लेने की कोशिश की गई तो वह भी खराब थे। इसके बाद छात्रों ने खिड़की से आने वाली रोशनी में लगभग 15 दिन मिनट तक परीक्षा दी। इस दौरान कुछ छात्रों ने हंगामा भी किया। परीक्षा केंद्र पर तैनात शिक्षकों ने छात्रों को समझाया तब वह माने। परीक्षा नियंत्रक मुरैना के परीक्षा केंद्रों पर चेकिंग के लिए गए थे लेकिन उन्हें वहां पर नकल के हालात नहीं मिले। 


यूजी प्रथम वर्ष की परीक्षा के तहत शनिवार की सुबह बीएससी और बीकॉम का पेपर था। जेयू में शुक्रवार की शाम तक प्रथम वर्ष के छात्रों के परीक्षा फॉर्म भरवाए गए थे इसलिए छात्रों का डेटा परीक्षा केंद्रों पर देरी से पहुंचा और कुछ पर पहुंचा ही नहीं। जेयू के ही परीक्षा भवन में 36 छात्रों का डेटा नहीं पहुंचा था। इंटरनेट से डेटा लेने की काेशिश की गई तो बिजली जाने के वजह से इसमें भी सफलता नहीं मिली। इसके बाद इन 36 छात्रों काे अलग कमरे में बैठाकर परीक्षा ली गई। यही स्थिति मुरैना और भिंड के कुछ परीक्षा केंद्रों पर भी बनी। 


छात्रा का विषय ही बदल दिया 
जेयू के प्रशासनिक भवन में गवर्नमेंट कॉलेज करैरा की छात्रा अंजलि करौठिया पहुंची थीं। यूजी प्रथम वर्ष की इस छात्रा का कहना था कि उसका विषय विशिष्ट हिंदी है जबकि प्रवेश पत्र में उसे इतिहास की छात्रा बताया गया। इसकी वजह से वह शुक्रवार को हुआ पहला पेपर नहीं दे पाई। अब उसके प्रवेश पत्र में सुधार कर दिया जाए। असिस्टेंट रजिस्ट्रार अभयकांत मिश्रा के हस्तक्षेप के बाद छात्रा की समस्या का निदान हो सका। 

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन