• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • 32 लाख रु. की लागत से बनेगा वेयर हाउस फसल के भंडारण की समस्या होगी दूर
--Advertisement--

32 लाख रु. की लागत से बनेगा वेयर हाउस फसल के भंडारण की समस्या होगी दूर

मप्र सहकारिता विभाग द्वारा बदरवास नगरीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली कृषि उपज मंडी रोड 35 लाख रुपए की लागत से...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:00 AM IST
मप्र सहकारिता विभाग द्वारा बदरवास नगरीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली कृषि उपज मंडी रोड 35 लाख रुपए की लागत से किसानों की फसल को भंडारण करने के लिए 1 हजार मीट्रिक क्षमता वाला वेयर हाउस का निर्माण कराया जा रहा है। जिसका कार्य शुरू हो गया है। जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा। जिससे किसानों को अपनी फसल का भंडारण करने में आसानी होगी। खासबात यह है कि अभी तक क्षेत्र में किसानों को सरकारी कोई भी वेयर हाउस नहीं था। लेकिन इस वेयर हाउस के बन जाने से किसानों को किराए पर अपनी फसल रखने के लिए भी मिल सकेगा। वहीं शासन द्वारा किसानों को दिए जाने वाले खाद-बीज सहित अन्य सामग्री का भी भंडारण इसमें हो सकेगा। जिससे किसानों को समय पर सामग्री मिल सके। वहीं अभी तक क्षेत्र में प्राइवेट वेयर हाउस थे, जो किसानों से मनमाना किराए वसूलते थे। लेकिन अब सरकारी गोदाम बन जाने से किसानों को सरकारी रेट में किराए पर उपलब्ध हो सकेगा।

जल्द बनकर तैयार होगा वेयर हाउस : सहकारी संस्था द्वारा बनाए जा रहे 1 हजार मीट्रिक टन अन्न भंडारण क्षमता वाले वेयर हाउस निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। इस गोदाम को 32 लाख रुपए से अधिक की लागत से बनाया जा रहा है। जिससे किसानों को अब अपनी फसल के भंडारण के लिए नगर के बाहर बने गोदामों तक नहीं जाना पड़ेगा। गोदाम बन जाने से क्षेत्र के किसानों की सुविधाओं में काफी इजाफा हो जाएगा। सूत्रों की माने तो सहकारी संस्था इस गोदाम को शासन के सुपुर्द कर गोदाम किराए पर किसानों को देगी।

आईसीडीबी कंपनी कर रही है वेयर हाउस का निर्माण

सहकारिता विभाग द्वारा स्वीकृत हुए इस वेयर हाउस का निर्माण आईसीडीबी निर्माण कंपनी द्वारा निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसमें वेयर हाउस की क्षमता 1000 मीट्रिक टन अन्न भंडारण की क्षमता होगी। जिसकी लागत 32 लाख रुपए है। इस गोदाम के निर्माण से क्षेत्रीय किसानों को लाभ होगा।

सरकार के निर्धारित किराए पर मिलेगा गोदाम

नगर के किसानों की माने तो अभी तक क्षेत्र में निजी लोगों व निजी कंपनियों के वेयर हाउस थे। लेकिन अब सहकारिता विभाग द्वारा किसानों के हित को देखते हुए निर्माण कराए जा रहे शासकीय गोदाम से किसानों को मनमाना किराया नहीं देना पड़ेगा बल्कि सरकार द्वारा निर्धारित किराए पर ही किसानों को मिल सकेगा। साथ ही किसानों को शासन द्वारा उपलब्ध कराने वाली सामग्री का भंडारण होने से किसानों को लाभ होगा।

गोदाम बनने से होगा लाभ


किसानों के हित के लिए गोदाम का निर्माण कराया जा रहा है