• Home
  • Mp
  • Gwalior
  • पुराने विज्ञापन से किया गुमराह करने का प्रयास
--Advertisement--

पुराने विज्ञापन से किया गुमराह करने का प्रयास

ग्वालियर

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 02:55 AM IST
ग्वालियर
प्रदेश में वर्ष 2011 के बाद से अभी तक संविदा शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित नहीं की गई है, जबकि यह परीक्षा हर तीन साल में होने का नियम है। इस कारण लाखों आवेदक इस परीक्षा के विज्ञापन का इंतजार कर रहे है। ऐसे समय में कुछ लोगों ने वॉट्सएप व यूट्यूब पर संविदा शिक्षक परीक्षा का विज्ञापन अपलोड कर दिया। पीईबी अफसरों ने मामले की जांच की तो पता चला कि संविदा शिक्षक पात्रता परीक्षा का वर्ष 2011 वाले विज्ञापन की एडिटिंग कर किसी ने इस विज्ञापन को वर्ष 2018 का विज्ञापन बना कर वॉट्सएप व यूट्यूब पर अपलोड कर दिया है।

वॉट्सएप व यूट्यूब पर वायरल हो रहे इस विज्ञापन में परीक्षा फॉर्म जारी होने की डेट 10 मई बताई गई है और लास्ट डेट 25 मई बताई है। परीक्षा की डेट तो नहीं दी है, लेकिन परीक्षा का महीना जुलाई बताया गया है। परीक्षा शुल्क सामान्य आवेदकोें के लिए 500 व रिजर्व कैटेगरी के आवेदकों के लिए 250 रुपए है। इस विज्ञापन को देख कर प्रदेश के लाखों आवेदक जो सालों से इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, वे खुश हो गए। जब कई आवेदकों ने पीईबी अफसरों से इस मामले मेें बात की, तो पता चला कि वायरल हो रहा यह विज्ञापन एडिटिंग कर सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया है। पीईबी की तरफ से इस तरह का अभी तक कोई भी विज्ञापन जारी नहीं किया गया है।

पदों की संख्या है 11384

वॉट्सएप पर वायरल हो रहे संविदा शिक्षक पात्रता परीक्षा के विज्ञापन मेें वर्ग दो के लिए 11384 पदों का उल्लेख किया गया है। यह पद भी संभावित पदों के आसपास ही हैं। संविदा शिक्षक का वेतन विज्ञापन में सात हजार रुपए प्रतिमाह बताया गया है। ऐसे में आवेदक इसकी सत्यता परखने में लगे हुए हैं।