Hindi News »Madhya Pradesh »Gwalior» छात्र नेताओं से बोलीं वीसी- आपके नहीं नर्सिंग छात्रों के आवेदन पर कराएंगे रिव्यू

छात्र नेताओं से बोलीं वीसी- आपके नहीं नर्सिंग छात्रों के आवेदन पर कराएंगे रिव्यू

एजुकेशन रिपोर्टर | ग्वालियर बीएससी नर्सिंग तीसरे व चौथे वर्ष की कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन (रिव्यू) कराने की...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 04:20 AM IST

छात्र नेताओं से बोलीं वीसी- आपके नहीं नर्सिंग छात्रों के आवेदन पर कराएंगे रिव्यू
एजुकेशन रिपोर्टर | ग्वालियर

बीएससी नर्सिंग तीसरे व चौथे वर्ष की कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन (रिव्यू) कराने की मांग को लेकर पहुंचे नर्सिंग छात्र संगठन के नेताओं व जीवाजी यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला के बीच गुरुवार को विवाद हो गया। कुलपति ने कहा कि दलालों के कहने पर नहीं बल्कि वह नर्सिंग छात्रों के कहने पर कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन कराने को तैयार हैं। दलाल कहने पर छात्र नेता भड़क गए। संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री विष्णु पांडेय ने कहा कि वह दलाल नहीं हैं। इस दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने कुलपति के साथ अभद्र व्यवहार कर दिया। जिस पर कुलपति ने आपत्ति जताते हुए कहा कि इस तरह छात्र नेताओं का बोलना ठीक नहीं है। उन्होंने छात्र नेताओं पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आप लोगों के स्थान पर नर्सिंग में जो छात्र फेल हुए हैं, वे क्यों नहीं आ रहे? अब वह छात्र नेताओं के कहने पर नहीं बल्कि नर्सिंग छात्रों के आवेदन पर ही पुनर्मूल्यांकन कराएंगी। इसके बाद गार्ड ने छात्रों को कुलपति कार्यालय से बाहर कर दिया।

बीएससी नर्सिंग तीसरे में 42.9 व चौथे वर्ष में 60.75 छात्र हुए हैं पास: बीएससी नर्सिंग तीसरे वर्ष में 1923 में से 273 छात्र फेल हुए हैं। जबकि बीएससी नर्सिंग चौथे वर्ष में 1488 में से 278 छात्र फेल हुए हैं। इस तरह तीसरे वर्ष के रिजल्ट में 42.9 फीसदी व चौथे वर्ष में 60.75 फीसदी छात्र पास हुए हैं। तीसरे वर्ष के 462 छात्रों ने री-ओपनिंग व 190 छात्रों ने रीटोटलिंग के लिए आवेदन किया है। वहीं बीएससी नर्सिंग चौथे वर्ष के री-ओपनिंग के लिए 222 व रीटोटलिंग के लिए 149 छात्रों ने आवेदन किया है।

रिजल्ट घोषित करने से पहले बीएससी नर्सिंग तीसरे व चौथे वर्ष की कॉपियों की रेंडम जांच कराई थी। रिजल्ट में बदलाव नहीं हुआ। अब छात्र अपनी मर्जी के शिक्षक से पुनर्मूल्यांकन कराने के लिए दबाव बना रहे हैं। - प्रो. संगीता शुक्ला, कुलपति, जेयू

जेयू में कुलपति के कक्ष में हंगामा करते छात्रों को बाहर करते गार्ड।

एबीवीपी ने प्रदर्शन किया जेयू के खाली पदों पर भर्ती करने की मांग की

जीवाजी यूनिवर्सिटी सहित प्रदेश भर की यूनिवर्सिटी में प्रोफेसरों की बड़ी संख्या में खाली पदों पर भर्ती करने की मांग को लेकर गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने एमएलबी कॉलेज में प्रदर्शन किया। इस दौरान एबीवीपी के महानगर मंत्री गौरव मिश्रा ने कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. केएस राठौर को उच्च शिक्षा मंत्री के नाम पर ज्ञापन सौंपा। गाैरव मिश्रा का कहना था कि जेयू में शिक्षकों के 104 पद मंजूर हैं लेकिन 57 पद ही भरे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gwalior

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×