--Advertisement--

प्रदेश में सबसे ज्यादा भिंड के सैनिक हुए शहीद मुरैना जिला दूसरे नंबर पर, 1 करोड़ रु. का चेक देने 14 को आएंगे मुख्यमंत्री

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 11:14 AM IST

चंबल अंचल में बसे भिंड जिले के युवाओं में शुरू से ही देशभक्ति का जज्बा रहा है

martyr in mp bhind no1

भिंड। चंबल अंचल में बसे भिंड जिले के युवाओं में शुरू से ही देशभक्ति का जज्बा रहा है। यही कारण है कि यहां के युवा सबसे ज्यादा सेना में नौकरी करते हैं। वहीं प्रदेश में सबसे ज्यादा शहीद यदि किसी जिले में हैं तो यह गौरव भी भिंड जिले को प्राप्त है। आजादी के बाद चाहे 1962 में भारत चीन की लड़ाई हो या फिर 1965 में भारत पाकिस्तान के बीच हुआ युद्ध हो। यहां तक कि भारतीय सेना के जितने भी बड़े ऑपरेशन हुए हैं, उनमें भिंड के जवानों ने अपनी भूमिका निभाई है। यहां बता दें कि भिंड जिले में 119 शहीदों के परिवार निवास करते हैं। जबकि पड़ोसी जिले मुरैना में यह संख्या में 81 और ग्वालियर में 56 शहीदों के परिवार निवास करते हैं।

उधर स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले 14 अगस्त को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भिंड आ रहे हैं। वे भिंड शहर के चतुर्वेदी नगर स्थित शहीद जितेंद्र सिंह राजावत के परिवार को एक करोड़ रुपए का चैक देंगे। साथ ही एसएएफ ग्राउंड पर शहीदों के परिजन का सम्मान करेंगे। उनके संभावित कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन ने तेजी से तैयारियां शुरू कर दी है। शुक्रवार को कलेक्टर आशीष कुमार गुप्ता और एसपी रुडोल्फ अल्वारेस ने अफसरों की बैठक ली।

कौन हैं शहीद जितेंद्र सिंह
शहर के चतुर्वेदी नगर निवासी रामवीर सिंह कुशवाह के सबसे छोटे बेटे जितेंद्रसिंह सीआरपीएफ की 212 कोबरा बटालियन में पदस्थ थे। 13 मार्च को छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों द्वारा बिछाई गई बारुदी सुरंग में हुए विस्फोट में शहीद हो गए थे। वे वर्ष 2005 में भर्ती हुए थे। उनकी सात साल पहले सोनम से शादी हुई थी, जिनसे उन्हें दो बच्चियां और एक बच्चा है। सरकार ने जितेंद्र सिंह की शहादत पर एक करोड़ रुपए देने और एक पार्क व स्कूल का नाम रखने की घोषणा की थी।

X
martyr in mp bhind no1
Astrology

Recommended

Click to listen..